जूलियस सीज़र के इतिहास के 22 रोचक तथ्य | Julius Caesar in Hindi

जूलियस सीज़र पहली सदी ईसा पूर्व में रोमन साम्राज्य का पहला तानाशाह था। जूलियस सीज़र ने इटली केंद्रित यूरोप में फैले रोमन गणराज्य (Roman Republic) में गणराज्य व्यवस्था समाप्त कर निरंकुश शासन की स्थापना की।

जूलियस सीज़र अपने समय में यूरोप ही नहीं बल्कि पृथ्वी का सबसे ताक़तवर इंसान था। महान अंग्रेजी साहित्यकार विलियम्स शेक्सपियर ने जूलियस सीज़र के इतिहास को लेकर Julius Caesar के नाम से ही एक नाटक भी लिखा जो के काफी ज्यादा प्रसिद्ध है।

इस लेख में हम आपको जूलियस सीज़र के जीवन और इतिहास से जुड़े रोचक तथ्य बताएँगे।

जूलियस सीज़र के इतिहास के 22 रोचक तथ्य

1. जूलियस सीज़र का जन्म 100 ईसा पूर्व रोम के Subura में एक कुलीन परिवार में हुआ था। माना जाता है इनके परिवार की जड़ें रोम की नींव रखने वाले लोगों से थी।

2. सीज़र का पूरा नाम Gaius Julius Caesar था।

3. जूलियस सीज़र ने 6 साल की उम्र में एक प्राइवेट ट्यूटर से शिक्षा हासिल करनी शुरू की। उसे पढ़ना और लिखना सिखाया गया।

4. अपनी शिक्षा के दौरान सीज़र ने Rome के कानून और लोगों में भाषण देने की कला को सीखा। यह दोनों शिक्षाऐं आगे चलकर रोम के पहले तानाशाह के खूब काम आईं।

5. 16 साल की उम्र में सीज़र अपने पिता को खो देता है। अब उसकी मां और उसकी बहन की ज़िम्मेदारी उस पर आ जाती है। हालांकि के परिवार की आर्थिक स्थिति ठीक होने के कारण सीज़र को कोई ज्यादा दिक्कत नहीं आती।

6. 17 साल की उम्र में जूलियस की शादी Carnelia नाम की लड़की से हो जाती है जो के एक प्रभावशाली पॉलीटिशियन की बेटी होती है।

7. सीज़र जब राजनीति में अपने कदम रखता है तो वह सरकार में दो दलों में संघर्ष को देखता है। उस समय रोम के दो Consul में से एक Sulla होता है जिसकी सीज़र के रिश्तेदारों से पुरानी दुश्मनी थी। सीज़र Sulla और उसके साथियों की खटास से बचने के लिए रोमन सेना में भर्ती हो जाता है और रोम छोड़कर सेना के अभियानों में उसका साथ देता है।

(Consul रोमन गणराज्य की सरकार में सबसे बड़ा पद था – राष्ट्रपति की तरह। एक समय में दो व्यक्ति Consul रह सकते थे, वह भी 1 साल के लिए। कोई भी व्यक्ति एक बार से ज्यादा कौंसल नहीं बन सकता था।)

8. रोमन सेना के सैन्य अभियान के दौरान सीज़र काफी महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है और उसकी वजह से रोमन सेना को काफी महत्वपूर्ण सफलताएँ मिलती हैं, जिसकी वजह से सीज़र का कद काफी बढ़ जाता है।

9. Sulla के मरने के बाद सीज़र Rome वापिस लौटता है। एक मिलिट्री हीरो होने के कारण रोमन सरकार में उसकी हैसियत बढ़ जाती है।

10. रोमन सरकार में रहते हुए सीज़र दो शक्तिशाली व्यक्तियों से अपने संबंध घनिष्ट कर लेता है। सेनापति Pompey the Great और एक अमीर व्यक्ति Crassus.

11. 40 साल की उम्र में Caesar रोमन गणराज्य के सबसे बड़े पद Consul पर काबिज हो जाता है। नियम के अनुसार वह इस पद पर 1 साल तक रहता है और इसके बाद रोम के एक राज्य Gaul का गवर्नर बन जाता है।

12. Gaul का गवर्नर रहते हुए उसके पास रोमन सेना की 4 टुकड़ियों की कमान होती है। अपनी काबिलियत के दम पर वो Gaul के उन हिस्सों को भी जीत लेता है जो के रोमन गणराज्य का हिस्सा नहीं थे।

13. सीज़र अपनी भाषण कला और कुशल प्रशासन के कारण प्रजा में काफी लोकप्रिय हो जाता है। ज्यादातर सैनिक भी Caesar को अपना नायक मानने लगते हैं और उसकी योग्यता को सेनापति Pompey के बराबर मानते हैं।

14. सीज़र की प्रसिद्धि और लोकप्रियता Pompey और उसके साथियों को रास नहीं आती। वह सीज़र से जलने लगते हैं। यह सब बातें सीज़र और Pompey दोनों को एक दूसरे का दुश्मन बना देती है।

15. काफी ताकत हासिल करने के बाद जूलियस सीज़र एलान करता है कि वह रोम दोबारा जाकर कौंसल पद का चुनाव लड़ेगा। लेकिन मंत्रिमंडल से जवाब मिलता है कि पहले उसे इसके लिए सेना की कमान छोड़नी होगी। सीज़र ऐसा करने से मना कर देता है।

16. रोमन गणराज्य पर निरंकुश सत्ता स्थापित करने के लिए सीज़र अपनी सेना का साथ राजधानी रोम पर हल्ला बोल देता है और 49 ईसा पूर्व में पॉम्पे और उसके साथियों को भगाकर राजधानी रोम पर कब्ज़ा कर लेता है।

17. Rome पर कब्ज़ा करने के बाद अगले 18 महीनों तक सीज़र Pompey के विरुद्ध लड़ता है और उसे मिस्त्र तक खदेड़ देता है। मिस्र में वहां का राजा Pompey का सर काट कर सीज़र को तोहफे के रूप में पेश करता है और इस तरह जंग खत्म हो जाती है।

18. जंग के खत्म होने के बाद सीज़र 46 ईसा-पूर्व में रोम वापिस लौटता है इस समय वह यूरोप ही नहीं ब्लकि दुनिया का सबसे ताक़तवर इंसान होता है। मंत्रिमंडल सीज़र को जीवन-भर के लिए तानाशाह बना देता है और वह एक राजा की तरह राज करने लगता है।

19. सत्ता पाने के बाद सीज़र रोम में कई बदलाव करता है। मंत्रिमंडल में अपने समर्थकों को जगह देता है राजधानी रोम में कई नई इमारतें और मंदिर बनवाता है। एक बदलाव वो ऐसा भी करता है, जिसका आपके जीवन पर छोड़ा सा प्रभाव है। Caesar Julian Calendar को लागू कर देता है जिसमें 1 साल में 365 दिन और एक लीप वर्ष होता है।

20. सीज़र की बढ़ती ताकत के कारण रोमन गणराज्य के कुछ चिंतकों को लगने लगा कि कहीं उसकी यह निरंकुशता रोमन गणराज्य को खत्म ना कर दे। इसलिए वह जूलियस सीज़र की हत्या करने की साज़िश रचते हैं। साजिशकर्ताओं के नेता Cassius और Brutus थे।

21. 15 मार्च के 44 ईसा-पूर्व के दिन सीज़र जब संसद (Senate) में दाखिल होता है तो कुछ आदमी आकर उसे पकड़ लेते हैं और चाकुओं से गोदकर उसकी हत्या कर देते हैं। उसे 23 बार चाकुओं से गोदा जाता है। Willian Shakespeare के नाटक में इस दृश्य को बड़े ही अच्छे तरीके से दिखाया गया है।

22. सीज़र के चाहने वाले उसकी हत्या का बदला ले लेते हैं। जूलियस सीज़र का भतीजा Octavian उसका उत्तराधिकारी बनता है। सीज़र जहां रोमन साम्राज्य का तानाशाह था, तो वहीं Octavian Caear Augustus के नाम से रोमन साम्राज्य का पहला सम्राट बनता है।

Leave a Comment

error: Content is protected !!