J.K. Rowling का संघर्षमय जीवन जिन्होंने लिखे हैरी पॉटर नावल

JK Rowling in Hindi

J.K. Rowling ब्रिटेन की एक लेखिका हैं जो अपने हैरी पॉटर novel series के लिए मशहूर हैं। Harry Potter book series दुनिया की सबसे ज्यादा बिकने वाली book series है जिसकी अब तक 50 करोड़ से ज्यादा copies बिक चुकी हैं।

नाम

उनके नाम ‘J. K. Rowling’ की full form है – ‘Joanne Kathleen Rowling’ (जोआन कैथलीन राउलिंग
)। इसमें ‘कैथलीन’ उनकी दादी का नाम है।

जब एक book publisher Harry Potter का पहला novel publish करने के लिए तैयार हुआ, तब उनका नाम जोआन राउलिंग ही था। उनके publisher ने उन्हें सलाह दी कि वो अपना नाम ऐसा कर लें जिससे पाठकों को शुरू में यह अहसास ना हो कि यह novel एक महिला द्वारा लिखा गया है, क्योंकि इससे पाठकों में novel के प्रति रूचि कम हो सकती थी।

लेकिन उस समय जोआन राउलिंग तलाक़शुदा थी इसलिए अपने पति के नाम को middle name के तौर पर उपयोग नहीं कर सकती थी। इसलिए उन्होंने अपनी दादी के नाम (कैथलीन) को middle name के तौर पर चुना और अपनी पहली पुस्तक ‘Harry Potter and the Philosopher’s Stone’ को ‘J.K. Rowling’ लेखक के नाम से छपवाया।

जे. के. राउलिंग का बचपन और निजी जीवन

जे.के. राउलिंग का जन्म 31 जुलाई 1965 को इंग्लैंड के ब्रिस्टल शहर के पास स्थित एक छोटे से कस्बे में हुआ था। वो ‘Tutshill’ नाम के छोटे से गांव में बड़ी हुई।

प्रारंभिक और मुख्य शिक्षा के बाद उन्होंने 1986 में इंग्लैंड की ‘University of Exeter’ से फ़्रेंच भाषा और Classics में B.A. की degree प्राप्त की। इसके बाद उन्होंने लंदन में ‘Amnesty International’ नाम की एक संस्था में सेक्रेटरी के तौर पर भी काम किया।

1990 में वो अंग्रेजी पढ़ाने के लिए पुर्तगाल चली गयी। यहीं पर अक्टूबर 1992 में उन्होंने Jorge Arantes से शादी कर ली और 1993 में उनकी बेटी जेसिका का जन्म हुआ। लेकिन इसी साल घरेलू अनबन की वजह से दोनों में तलाक भी हो गया। इसके बाद वो फिर से ब्रिटेन वापिस आ गईं।

हैरी पॉटर

बचपन में राउलिंग अपने कोर्स कि किताबों को छोड़कर अन्य किताबें पढ़ने में रूचि नहीं रखती थी। लेकिन जब वो 14 साल की थी तब उनकी एक सहेली ने उन्हें एक ऐसी किताब दी जो जादूगरों और चुड़ैलों से संबंधित थी। इस किताब ने उनके अंदर ऐसे विषयों से संबंधित पुस्तकें पढ़ने की रूचि जगा दी जो उनकी Harry Potter शृंखला का आधार बने।

राउलिंग का कहना है कि उन्हें Harry Potter लिखने का idea तब आया जब वो मैनचेस्टर से लंदन ट्रेन में जा रहीं थी लेकिन ट्रेन लगभग 4 घंटे तक देरी से थी। इसके बाद उन्होंने Harry Potter शृंखला पर काम करना शुरू कर दिया।

हैरी पॉटर शृंखला का पहला उपन्यास 26 जून 1997 को छपा। इसका शीर्षक था – ‘Harry Potter and the Philosopher’s Stone’.

पहले तो हैरी पॉटर का पहला उपन्यास publish करने से काफी सारे publishers ने मना कर दिया। लेकिन जब यह एक बार प्रकाशित हो गया, तो इसने पूरी दुनिया में धूम मचा दी। जो.के. राउलिंग पर कई awards की बरसात हुई।

इसके बाद राउलिंग ने हैरी पॉटर के बाकी छह भाग भी लिखे, जो हाथों-हाथ बिक गए और यह सातों novel दुनिया की सबसे ज्यादा बिकने वाली book series बन गई।

यह novel दुनिया की 65 से ज्यादा भाषाओं में अनुवादित हो चुके हैं। हिन्दी में इस श्रृंखला का अनुवाद बेहतर तरीके से डॉक्टर सुधीर दीक्षित जी द्वारा किया गया है।

नीचे हैरी पॉटर श्रृंखला के सभी novels की list उनकी publising date अनुसार दी गई है। साथ ही उनके अनुवादित हिन्दी संस्करणों के नाम भी दिए गए हैं।

# Novel Name First Published
1 Harry Potter and the Philosopher's Stone 26 June 1997
2 Harry Potter and the Chamber of Secrets 2 July 1998
3 Harry Potter and the Prisoner of Azkaban 8 July 1999
4 Harry Potter and the Goblet of Fire 7 July 2000
5 Harry Potter and the Order of the Phoenix 21 June 2003
6 Harry Potter and the Half-Blood Prince 16 July 2005
7 Harry Potter and the Deathly Hallows 21 July 2007

हिंदी संस्करणों के शीर्षक

  1. हैरी पॉटर और पारस पत्थर
  2. हैरी पॉटर और रहस्मयी तहख़ाना
  3. हैरी पॉटर और अज़्कबान का क़ैदी
  4. हैरी पॉटर और आग का प्याला
  5. हैरी पॉटर और मायापंछी का समूह
  6. हैरी पॉटर और हाफ़-ब्लड प्रिंस
  7. हैरी पॉटर और मौत के तोहफ़े

मेहनती और हिम्मती महिला

राउलिंग एक मेहनती और हिम्मती महिला हैं। जब उन्होंने हैरी पॉटर का पहला नावल लिखना शुरू किया तो वो एक तलाक़शुदा महिला थी और अकेली मां के रूप में अपनी बच्ची के साथ संघर्षमय जीवन गुजार रही थीं। वो तो शुक्र है कि इंग्लैंड की सामाजिक सुरक्षा इतनी मजबूत है कि बेरोज़गारी के कारण राज्य से मिलने वाली आर्थिक सहायता के बल पर वें न केवल अपनी बेटी का पालन पोषण ठीक से कर पाई, बल्कि दुनिया के एक सर्वाधिक लोकप्रिय होने वाले उपन्यास का सृजन भी कर पाई, जिसने उनकी जीवन की दिशा ही बदल दी।

अपनी पुस्तकों बिक्री के कारण जे.के. राउलिंग एक बेहद अमीर महिला बन चुकीं है जिन्होंने अब तक अपनी पुस्तकों से 1 अरब डॉलर से भी ज्यादा की कमाई कर ली है। उनमें लोक कल्याण की भावना है इसलिए उन्होंने बड़ी मात्रा में अपनी पूँजी दान किया है। रोलिंग ने कहा था की जब हमे ज़रूरत से ज्यादा मिलता है तो यह हमारा नैतिक उत्तर दायित्व होता है कि हम समझदारी और बुद्धिमता से उसका प्रयोग करे।

साल 2011 में उन्होंने Neil Murray (नील मरे) नाम के व्यक्ति से शादी कर ली। इस शादी से उन्हें एक बेटा और एक बेटी प्राप्त हुई है। उनकी यह शादी अभी भी सुखद तरीके से चल रही है।

अन्य पुस्तकें

ऐसा नहीं है कि राउलिंग ने केवल हैरी पॉटर के 7 उपन्यास ही लिखे हैं। बल्कि उन्होंने कई और पुस्तकें भी लिखी है जिनमें से कुछ तो हैरी पॉटर की जादुई दुनिया से संबंधित है और बाकी इससे हटकर। इनकी सूची नीचे दी गई है।

हैरी पॉटर से संबंधित

Work Published
Fantastic Beasts and Where to Find Them 1 March 2001
Quidditch Through the Ages 1 March 2001
The Tales of Beedle the Bard 4 December 2008
Harry Potter and the Cursed Child (story concept) 31 July 2016
Short Stories from Hogwarts of Power/Politics and Pesky Poltergeists 6 September 2016
Short Stories from Hogwarts of Heroism/Hardship and Dangerous Hobbies 6 September 2016
Hogwarts: An Incomplete and Unreliable Guide 6 September 2016
Fantastic Beasts and Where to Find Them (film script) 19 November 2016
Harry Potter prequel July 2008

हैरी पॉटर से हटकर

Work Published
The Casual Vacancy 27 September 2012
The Cuckoo's Calling 18 April 2013
The Silkworm 19 June 2014
Career of Evil 20 October 2015
Lethal White 2018

Sources


Note : यह लेख ‘J.K. Rowling का संघर्षमय जीवन जिन्होंने लिखे हैरी पॉटर नावल’Great/Famous Persons category का हिस्सा है। अन्य महान और प्रसिद्ध लोगों के बारे में जानने के लिए हमारी Great/Famous Persons category ज़रूर देखें।

One Response

  1. Nitin

Leave a Reply

error: Content is protected !!