मौत से जुड़े 26 हैरान कर देने वाले आंकड़े और तथ्य | Death Facts in Hindi

Death in Hindi

1 To 10 Interesting Facts of Death in Hindi

1. मृत व्यक्ति को जलाने की परंपरा साढ़े 3 लाख साल पुरानी है।

2. मानव इतिहास में अबतक 100 अरब लोगों की मौत हो चुकी है।

3. न्युयार्क शहर में उतने लोग मर्डर करने की वजह से नही मरते, जितने कि आत्महत्या कर लेते है।

4. वर्तमान समय में हर रोज़ लगभग डेढ़ लाख लोग मरते है, जबकि जन्म लेने वालों की संख्या इससे ढ़ाई गुणा ज्यादा है।

5. डॉक्टरों की बेकार लिखावट की वजह से हर साल 7 हज़ार लोग मारे जाते है।

6. व्यक्ति के मरने के कुछ दिन बाद भी, उसके सुनने वाले अंग अपना काम करते रहते है।

7. सिर पर नारियल गिरने की वजह से हर साल 150 से ज्यादा लोग मारे जाते है।

8. अमेरिका में हर घंटे किसी व्यक्ति की मौत एक शराबी ड्राइवर की लापरवाही की वजह से होती है।

9. हर साल शार्कों द्वारा 12 लोग मारे जाते है, जबकि हमारे द्वारा हर घंटे में 11 हज़ार से ज्यादा शार्के मार दी जाती है।

10. रूस में साल 1923 में जन्म लेने वाले लगभग 80 प्रतीशत आदमी दूसरे विश्वयुद्ध में अपनी जान गंवा बैठे।

11 To 20 Interesting Facts of Death in Hindi

11. आतंकवादी हमलों से ज्यादा तो हर साल लोग बाथरूम में पैर फिसलने और बिजल़ी लगने से मारे जाते है।

12. इस्लामिक आतंकवाद की वजह से हर साल 3 लाख से ज्यादा लोग मारे जाते है। यह आंकड़ा ISIS के कारण काफ़ी बढ़ गया है।

13. हर 90 सैकेंड में एक महिला की मौत बच्चे को जन्म देते समय होती है।

14. मोटे ड्राइवरों की कार दुर्घटना में मौत होने की संभावना 78 प्रतीशत अधिक रहती है।

15. हर साल 20 हज़ार बच्चे गरीबी की वजह से मारे जाते है।

16. भारत में हर घंटे एक महिला की मौत दहेज़ संबंधी कारणों से होती है।

17. हर साल लगभग साढ़े 4 लाख मौते ऐसी बिमारियों की वजह से हो जाती है, जिनका आसानी से इलाज किया जा सकता था।

bat facts in hindi

18. ग्रीक मिथकों के अनुसार लाल बालो वाले लोग मौत के बाद नर पिशाच (चमगादड़) बन जाते है।

19. रिसर्च से पता चला है कि आजकल हर 8 होने वाली मौतों में से 1 मौत हवा प्रदूषण की वजह से होती है।

20. एक अनुमान के अनुसार पूरे मानव इतिहास में हुए युद्धो में लगभग 50 से 100 करोड़ लोग मारे गए है।

21 To 26 Interesting Facts of Death in Hindi

21. पहले विश्व युद्ध में लगभग 4 करोड़ और दूसरे में लगभग 6 करोड़ लोग मारे गए थे।

22. आपको जानकर हैरानी होगी कि पूरे मानव इतिहास में युद्धों से ज्यादा लोग मच्छरों द्वारा होने वाली बिमारियों से मारे गए है।

23. आप यह जानकर हिल जाएगें कि मानव इतिहास में होने वाली कुल मौतों में से लगभग आधी मलेरिया की वजह से हुई हैं।

24. टी.बी. की वजह से हर साल 15 लाख लोग मारे जाते है, यह आंकड़ा एड्स से होने वाली मौतों से ज्यादा है।

25. अमेरिका के वैज्ञानिकों की एक रिसर्च के मुताबिक गर्मी और वसंत के मौसम में सोमवार और मंगलवार के दिन सबसे ज्यादा आत्महत्ताएं होती हैं।

26. अकेलेपन से लगातार जूझ रहे लोगों में समय से पहले मृत्यु की आशंका 26% तक बढ़ जाती है। ऐसे लोगों में स्ट्रोक का खतरा भी 32% ज्यादा रहता है।

Related Pages

32 thoughts on “मौत से जुड़े 26 हैरान कर देने वाले आंकड़े और तथ्य | Death Facts in Hindi”

  1. mr. sahil marne se 1minute pehle or marne ke 1minute baad insan ka weight 21gm approx ghat jata hai. mein khud gawah hoon. sayad blood water mein change hota hai ya ye aatma (soul) ki wajah se hai. please add this.

    Reply
  2. its very good facts.I hope that you and your team will get best MANJIL—Jai hind–
    Bamaniya Brothers
    Suresh Bamaniya

    Reply
  3. Sahil ji 12 line me jo terrorist k sath apne ..Islamic… joda he wo islam ka hissa nahi hai islam kheta h …k agr zameen par bhi chalo to dekh kar chalo is liye ta ki koi bhi chote janwar kahi app k peer k neche aakar na mar jae…to wo islam be gunah be wajah logo ko marna ka hukm kaise de sakta h……Allah kheta hai agar tum kisi ko zinda nahi kar sakte to kisi ko be wajah marne ka bhi tume koi haq nahi…..terrorist islam k sath sath sari humanity… (insaniyat) par dabbha hai iska na islam se koi rista hai na humanity se…. to plz aage se terrorist k sath islam ko na jodeaga……….

    Reply
    • 1. पहली बात तो अली जी मैं आपसे कहना चाहुँगा कि आपकी यह बात ” islam kheta h …k agr zameen par bhi chalo to dekh kar chalo is liye ta ki koi bhi chote janwar kahi app k peer k neche aakar na mar jae” बिलकुल झूठ है। सबूत के तौर पर आप बकरीद नाम के त्योहार(?) को तो जानते ही है।

      2. दूसरी बात यह कि दुनिया में जो 95 प्रतीशत आतंकवाद है वो इस्लामिक कट्टरपंथ के कारण ही है। हालांकि यह बात सही है कि सभी मुसलमान आतंकवादी नहीं होते पर 99 प्रतीशत आतंकवादियों का धर्म क्या होता है यह तो आप भी जानते ही हैं।

      Reply
    • Using data on shark catches, discards and mortality rates worldwide, the researchers estimated that approximately 100 million sharks are killed per year by humans. However, they add that this is a conservative estimate, and the true number could be as high as 273 million sharks killed annually by humans.

      Reply
    • Adsense ne Ab limit policy hta di hai, aap jitne chahe ads use kar sakte hai, par agar aap mere kahe anusar ads setting nahi karenge to na to aap ko earning hogi aur na hi achhe clicks milenge.

      Sirf kamane ki mat sochiye, Website ko bhadiya banane ki sochiye.

      Reply
    • Mera blog wordpress par hai, Mai Quick Adsense name ke plugin ka use karta hu, jisse har post me jitne ads dikhana chahu dikha sakta hu,

      Aap aasa kijiye-

      1. Ek Ad Post Ke Title ke niche, 2, Ek beech me aur, 3. Ek end me lagayen.

      3 se jyada use na kare, isse CPC kam hoga aur SEO par bhi bad effect padega.

      Reply

Leave a Comment

error: Content is protected !!