बरमूडा त्रिकोण का 100% सच | Bermuda Triangle in Hindi

Bermuda Triangle in Hindi

बरमूडा त्रिकोण अटलांटिक महासागर का एक क्षेत्र है, जहां पर हवाईजहाज़ और समुंद्री जहाज रहस्यमय रूप से लापता होने की बातें कही जाती है।

आधिकारिक रूप से बरमूडा ट्राएंगल जैसे किसी क्षेत्र का अस्तित्व नहीं है। पर आम धारणा के अनुसार यह क्षेत्र अटलांटिक महासागर में अमेरिका के दक्षिण में स्थित है। बरमूडा ट्राएंगल के तीन बिंदू बरमूडा द्वीप , अमेरिका के फ्लोरिडा राज्य का मियामी शहर और प्युर्टो रीको (Puerto Rico) राज्य का सान जुआन टापू है।

बरमुडा त्रिकोण का क्षेत्रफल लगभग 7 लाख वर्ग किलोमीटर है। इतना क्षेत्रफल राजस्थान, मध्यप्रदेश और महाराष्ट्र के संयुक्त क्षेत्रफल से भी ज्यादा है।

Bermuda triangle का प्रभाव क्षेत्र निश्चित नही है। कई ऐसी दुर्घटनाएं हुई है जो बरमूडा ट्राएंगल के क्षेत्र से दूर थी पर फिर भी उन्हें इस ट्राएंगल के तथाकथित रहस्यमय प्रभाव से जोड़ दिया गया है।

bermuda triangle ka rahasya

क्या बरमूडा त्रिकोण में सच में रहस्मई दुर्घनाएं होती हैं?

ऐसा बिलकुल भी नही है। अमेरिका के समुंद्र रक्षक विभाग के अनुसार इस क्षेत्र में होने वाली दुर्घनाएं किसी अन्य क्षेत्र में होने वाली दुर्घटनाओं से ज्यादा नही हैं।

इस क्षेत्र में वर्ष 1945 में होने वाली अमेरिकी सेना के हवाई जहाजों के लापता होने की दुर्घटना को अगर छोड़ दिया जाए तो बाकी सभी दुर्घटनाओं के संतोषजनक और स्पष्ट कारण उपलब्ध हैं।

साल 2013 में एक संस्था World Wide Fund for Nature ने समुंद्री यात्रा के लिए सबसे खतरनाक स्थानों की लिस्ट जारी की थी जिसमें Bermuda triangle नही है। यह इस बात का सबसे बड़ा सबूत है कि यह क्षेत्र कोई रहस्मई और खतरनाक क्षेत्र नही हैं।

यदि बरमूडा त्रिकोण में होने वाली घटनाएं किसी अन्य क्षेत्र से ज्यादा नही तो फिर इस क्षेत्र को रहस्मई क्षेत्र क्यों कहा जाता है?

इसका मुख्य कारण एक तो वह लोग है जो अपने निजी स्वार्थ के लिए बरमूडा त्रिकोण से जुड़ी घटनाओं और तथ्यों को बढ़ा – चढ़ा कर पेश करते है और दूसरे वह लोग जिन्हें सनसनीखेज़ समाचारों और कहानियों में विश्वास होता है। जब तक ऐसी कहानियां और ऐसे लोग रहेगें तब तक बरमूडा त्रिकोण को रहस्य के रूप में ही जाना जाता रहेगा।

[Back to Contents ↑]

5 सितंबर 1945 को अमेरिकी नौसेना के टारपीडो वायुयानों की दुर्घटना

bermdua triangle flight 19
Flight 19 [Image Source – Appspot.com]

इस दुर्घटना को आप बरमूडा त्रिकोण के तथाकथित रहस्य की जनक कह सकते हैं। अगर यह घटना ना हुई होती तो शायद ही ‘बरमूडा त्रिकोण के रहस्य‘ जैसी बात कोई होती।

घटना कुछ इस तरह से है कि 5 सितंबर 1945 को अमेरिकी नौसेना के पांच टारपीडो विमान नियमित ट्रेनिंग के लिए उड़ान भरते हैं। उन्हें तट से 120 मील की दूरी तय करके वापिस आना था। जहां से उन्हें गुजरना था वह जगह बरमूडा त्रिकोण के क्षेत्र में आती थी।

पांचो पायलटों के उड़ान भरने के तकरीबन एक घंटे बाद कंट्रोल रूम ने मुख्य पायलट से संदेश प्राप्त किया कि वह कहीं खो गए हैं और उनके कंपास काम नही कर रहे। इसके बाद मुख्य पायलट का कंट्रोल रूम से संपर्क टूट गया।

इसके बाद कंट्रोल रूम को शाम को मुख्य पायलट का दूसरे पायलटों को दिया एक संदेश मिला जिस में वह बाकी चार पायलटो से कह रहा है – हमारे विमानों में ईधन खत्म हो गया है, सभी पायलट कूदने की तैयारी कर लें

कंट्रोल रूम के अधिकारियों ने यह संदेश पाते ही दो PBM-5 वायुयानों को उन की खोज़ के लिए भेजा। इनमें से एक में उड़ान भरते समय विस्फोट हो गया और दूसरा उन 5 जहाजों को खोज नही पाता।

इन दो PBM-5 वायुयानों के सिवाए एक मैरीनर फ्लाईग बोट को भी जहाजों की खोज़ के लिए भेजा गया। यह मैरीनर फ्लाईग बोट उड़ने के साथ – साथ समुंद्र में तैर भी सकती थी। पर इस मैरीनर फ्लाईग बोट के उड़ान भरने के कुछ समय के अंदर ही इसमें हवा में ही विस्फोट हो जाता है। इसका कोई भी अंश नही मिल पाया था। इसकी जानकारी नीचे समुंद्र में तैर रहे रहे एक समुंद्री जहाज ने थी कि उसने शाम 7 बज कर 50 मिनट पर आसमान में एक धमाका होते देखा था।

पांच हवाई जहाज़ो संबंधी एक दिन बाद एक महत्वपूर्ण सूचना जरूर प्राप्त हुई। उन पांचो हवाई जहाज़ो के थोड़ी दूर एक ओर जहाज़ भी उड़ा रहा था जिसके पायलट राबर्ट काक्स थे। राबर्ट काक्स ने संकट में फसे हवाई जहाज के मुख्य पायलट का संदेश प्राप्त किया था।

मुख्य पायलट ने राबर्ट काक्स को बताया था कि वे किसी छोटे द्वीप के ऊपर उड़ रहे हैं, उन्हे उसके अतिरिक्त कोई अन्य भूमि नज़र नही आ रही। बाद में इस हादसे की जांच करने वाले अधिकारियों ने पाया कि सभी जहाज़ अपने तय रूट पर नही थे क्योंकि अगर वह अपने तय रास्ते पर होते तो उन्हें एक द्वीप नही बल्कि कई द्वीप दिखने चाहिए थे।

इसके बाद उन पांचो टारपीडो जहांजो और उनके पायलटो का कुछ पता नही चल पाता। ना तो विमानों का थोड़ा बहुत मलबा मिलता है ओर ना ही पायलटों की लाशे।

कई महीने जांच करने के बाद अधिकारियों ने यह रिपोर्ट पेश की कि घटना का कोई स्पष्ट कारण नही पता फिर भी पायलटों का मार्ग से भटक जाना घटना का मुख्य कारण हो सकता है।

इस घटना के बाद ही शूरू हुआ बरमूडा त्रिकोण के रहस्यों के किस्सों का। किसी ने कहा के उन जहाजों को एलियंस ने अगवा कर लिया है तो किसी ने कहा कि बरमूड़ा त्रिकोण की समुंद्री सतह पर पुरानी अटलांटा सभ्यता की मशीने काम रही है जो विमानों को नष्ट करने वाली खतरनाक तरंगे लगातार छोड़ती रहती हैं। जब तक ऐसी कहानियां रहेगीं तब तक बरमूडा त्रिकोण को रहस्य के रूप में ही जाना जाता रहेगा।

[Back to Contents ↑]

87 thoughts on “बरमूडा त्रिकोण का 100% सच | Bermuda Triangle in Hindi”

  1. Bahut acha likha hai par mera manna hai ki agr kisi par ugli utahte ho to ek ungli apne upr bhi utha lena chahiye

    Reply
  2. धन्यवाद साहिल जी यह हकिकत मे एक अफवाह कयोकि पायलट ने मेसेज मे बोला कि इनधन कम ह सभी निचे सुरश्रित कुद जाओ ओर कुछ रहष्य भी हो सकता ह कयौकि कपाष मे परोबलम कयो आई ओर विमान तो पानी मे डुब गये होगे मेरा यहि मानना ह कि आप भारतियो के लिए आशाराम बापु कि तरह ढोगी बाबा के परचे बताते तो भारतिय बहुत खुश होते ओर 100% बात सही मानते कयोकि अँधविश्वाष रखने वाला दुनिया का पहला देश ह भारत

    Reply
    • Mr PAPPU aap yeah mat bhuloo ki aap bharat desh mei rehte hai. Aap iss matter. Ka video you tube par dekh sakte hai

      Reply
  3. koi manne yah na manne god has super power and he hold . why barmuda trinangle let see the example of manimahesh mountain no body cross over it even sun aslo side arise

    Reply
  4. bahut sundar sahil ji hum apki jankari se sahmat hai.
    bahut sari afwahe abhut sari prachen kahaniya,jo peedhi dar peedhi chalti rahti hai,fir hum un afwaho ko bachcho ko bhi sunate hai,aur vo inko sahi maan lete hai,jisse ek pakhand such lagne lagta hai aur actuality kya hai vo chhup jati hai.
    bahut bahut dhanyawad sahil ji apko aise hi sahi jankari aage bhi dete rahe.

    Reply
  5. sir sbhi ke comment pdne ke baad pta clata h kii sbhi ki alag alag soch hh mere ko bhi meri soch jahir karne ka moka de

    mera maana hh ki barmuda triy angle ek kendar bindu hh jispe gurutwakashan bal ka maan sab se adik hoga or us chetar me aane waale koi bhi biman yaa any yaan uss gurutwakshan kendar bhindu ke sanpark me aane par samundar me dub jaat hh
    thanks

    Reply
  6. वरमुडा एक पृथवी का केदनर है जिसके कारण वह किसी भी चीज को अपनी ओर खींचता है वरमुडा एक त्रिकुण हे जिसमे चुमकीय बल है जो पृथवी के गुरूवताकषरण बल को खतम कर देता है

    कियोकि चुमकीय परभाव हमेशा किसी भी वसतु को अपनी ओर खींचता है|

    Reply
  7. everything is just confusion full …….
    no one know about it ……
    persons who know about it doesnt want to tell …….
    thats why it looks confussion full

    Reply
  8. धन्यवाद साहिल जी
    बरमूडा ट्राइएंगल के बारे मे मेरी सोच को बदलने के लिये
    मैं आज तक इसी अंधविश्वास मे था की ये पृथ्वी का बीच का केंद्र है जंहा गुरत्वआकर्षन बल काम नही करता इस कारण ऐसी घटनाये होती है
    Once again thnks for clear my problm

    Reply
  9. Dn’t worry sahil sir ji you are right but some of people are very confusing in his life so that are believe that type of news ……they are not know real fact

    Reply
  10. Kya aap conform kah sakte hai ki Bermuda Triangle ek afwaah hai…

    Agar aisa hai to hamein lagta hai ki aap ko indian navy ki Rules and Instructions book ke rules padhne chahiye … Ek baat samajh nahi aaye ki aapne bade halke mein kah diya ki afwaah hai Bermuda Triangle , waise aap ke paas kaun sa thos pramaan hai kisi baat ko galat siddh karne ka…

    Ke aap Columbus ke guru hai jo kah diya ke pata nahi dekha bhi ya nahi dekh …..

    Guzaarish hai ki kewal apni baat batayen , kisi ko galat,sahi na siddh karein…

    Reply
    • नमस्ते आंशिक जी। मेरी बात का सबसे ठोस सबूत यही है कि अमेरिका के समुंद्र विभाग के अनुसार इस क्षेत्र में होने वाली दुर्घटनाएं किसी और क्षेत्र से ज्यादा नहीं है। और हां भारतीय नौसेना का बरमूडा ट्राएंगल में क्या काम?

      अनपढ़ लोग बाबाओं के पीछे भागते है और पढ़े-लिखे अनपढ़ अफवाहों के पीछे….

      Reply
    • BARMUDA TRIANGLE K UPPER AUR AAS PASS ME HEAVY ELECTRIC BADAL HAI, JISKI WAJAH SE WAHAN KOI ELECTRONIC ITEM OR CAMPASS KAAM NHI KARTE……. BARMUDA ME BHOOT, ALIEN YA KOI SUPERNATURAL POWER NHI HAI……

      Reply
    • Are barmuda triangle pehli baat to afwah nhi hai inhone is post me apni man gadhan kahani batai hai kyu ki har website pe alag alag information rehta hai aap cheque to kijiye ye log hi paisa kamane ke liye aisa post karte hain.

      Reply
  11. JISKO YE SAB GALAT LAGATA H VO VHA JAKAR KYU NHI TRY KRR LETA…………….APNI DUNIYA BAHUT BADI ..H OR APN USKE EK KONE ME NIWAS KARTE H…..BHUTT SI AESI CHIJE H JISKE BARE ME AAP KUCH KH NHI SKTE,,,

    Reply
  12. Sahil ji main apse ek sawal karna chahta hu
    ye jo aieroplane jo kho gayi hai wo kya aise hi bina wajah ke kho gayi hai kya
    koi bhi cheez ko koi na koi to reason jarur hota hai
    Yeh commansense ki baat hai
    kya sunil kumar ji aap
    aap plz aise ans mat dijiyega

    Reply
    • OK, वैसे मेरा नाम साहिल कुमार है जैसा कि आपने कमेंट के पहले शब्द में लिखा।

      Reply
    • bhai my aapke baaat se thora bahut manta hu lekin bhai my bhi iss tiangke ke bare me bahut kuchh padha aur thinking kiya mera bhi soch kuchh alag hii mera manana hii ki barmunda triangle aliens ke prthivi pr aane jane ka rasta hii jaise apne scientist log khoj krne antrikash me jaaate hii thik usi parkar aliens hamare gareh prithiv pr khoj bin ke liye barmunda tiangle ko network area aur prithivi se jorne ka sthan chuna hii bhai my iss liye ye kah raha hu kyoki barmunda tiangle ek khatrnak aur sunsan aur rahsmaay samundri area hii thankyo sir

      Reply
  13. Agr aapke pass koi Jankari hai to aap yha btate,,kisi insan ko galat khne se kuch nhi ho paega,,, aap apna sujhav. De…..bs….

    And spcl. thanks to admin..
    Jo time nikal kr yha jruri information ka collection kr ke publish kr rhe haii…….

    Aapki post wakai Me bahot la-jwab hai,,,.
    Aapko bahot bahot. Dhanyawaadd………………

    Reply
  14. Barmunda triangle ki baate us time falaai gai jab magazine ka chalan bahut jyada tha.. Baad me movies documentaries aur kai tarah se inka business chaltarahe isliye alag alag tariko se afwaho ko failate rahe. Europe countries me faili hui tamam rahasmayi wardate sirf afwahe hi hai unka business ka tarika hai jara socho itni badi dharti paris tarah ke saare rahasya udhar hi kyu hote hai. Aliens waha aate hai koi serial killer waha ata hai jahaaj unke gayab hote hai baaki dharti pe to is tarah ki ghatnaye na ke barabar hoti hai

    Reply
    • बस इसी बात को हमने पोस्ट में समझाने की कोशिश की है हेमंत जी। धन्यवाद आपके सार्थक कमेंट के लिए।

      Reply
  15. Ye bate fek NAHI he is liye hamare gurudev
    “Sadh Anopdas ji ” ne unki granth
    ” Jagathitkarni” me likha he ki ue kaise hota he aur Kon karta he aur kyu karta Hai
    So rk bar jarur padhe ” jagathitkarni”
    Thanks to larning plz

    Reply
  16. Sir ye post padh ke tassali toh Mili but Jo America k news media social sites par Jo khabrein faili huye hai ye toh kya ye sach me jhoot hai sir agar Vo aisa kuch bol rahe hai toh jarur koi na koi 40% aisi sach bat toh besakk hogi hi Ki Barmooda Triangle me aisa kuch bhi hota aya hai…..???

    Reply
  17. अगर तुमको ये लगता हैं कि बरमूडा में कोई रहस्य नही है तो खुद कोई जहाज लेकर वहां जा सकते हो 40 फिट तक समुद्री लहरे और तूफान से तुम बापस नही आ पाओगे
    और तो और तुमको ये सब तथ्य लगता हैं तो जाओ वहां पर और बापस आके दिखा दो साहिल कुमार जी सिर्फ लेख लिखने से क्या होता हैं

    Reply
    • पहली बात तो यह है समीर जी मेरे पास पासपोर्ट नहीं है और ना ही इतनी आज़ादी के वहां पर अकेला जा सकुँ। हां अगर आज़ादी होती तो जरूर जाता।

      दूसरी बात यह कि पहले आप खुद ट्राई मार आइए अगर आप वापिस ना आए तो मैं मान लुँगा कि बरमूडा ट्राएंगल सचमुच में एक रहस्य है। (वैसे आपकी कोई जान पहचान वाला गया था क्या उधऱ……)

      Reply
  18. Kiya yah sach hai ki koi jahaj bahut sal pahle rahesmey rup se gayeb ho gaya tha or kuch sal bad apne aap mil gayi jahaj pe koi log nahi the or jahaj me koi kharoch tak nahi thi or jahaj bahut purana tha

    Reply
    • बिलकुल। अगर ये खबर अमेरिका के आसपास के इलाके की नां होती तो शायद इस पर इतना हल्ला मचता ही नां।

      Reply
  19. Ye sab sahi hai…ek merchant navy cadre ko v bermuda triangle ke bare me bataya gya hai…..iska rahsya av tak nahi suljha hai isiliye kuchh log afwah mantey hai….jaise ki aap

    Reply
  20. wahan se sabse pahle bach ke lautne wala wakti Columbus tha jisne khud ye kaha hai ke main jab wahan se gujar raha tha toh maine akash me kayi tarah ki roshniyan dekhin aur sath hi mere compass ne kaam karna band kar diya…. uske baad 1 raja tha usne b is cheez ke bare me bataya tha. sath hi kayi pilots se ye b sampark me sunne ko mila hai ke unhe hawa me 7 dweep dikh rahe hain jinki settelite pics bhi hain magar udhar hawa me dhundhne par kabhi koi dweep nahi milte.
    kuch pilots jo gayab hue unke last words ye the ke unka plane hawa me ulta ho gaya hai aur unhe khud nahi pata wo kis dish me ja rahe hain aur unhe bhi hawa me kuch dweep nazar aaye hain.. search on wikipedia iske sath hi china ki pahadiyan bhi 1 aisi jagah hai jahan se koi nahi aata kyuki wo jagah apne aap cheezon ko khinch leti hai…. aap ne likh di kahani toh jake try maaro 1 baar aur kholo iss bat se parda…. scientist kahte hain ke udhar ke pani me methane gas ka adhik prabhav hai magar wo logical nahi hai…. baki bahut kuch hai magar itna likh ni sakta aap khud search karo

    Reply
    • अभिषेक जी दुनिया के 10 सबसे खतरनाक समुंद्री मार्गों में बरमूडा ट्राएंगल शामिल नही है। यह सिर्फ अफ़वाह है जो लोग अपने धंधे के लिए चलाते है। वहां आवाजाई आम है, जिस समय आप कमेंट कर रहे थे उस समय हज़ारों यान और नौकाएं उस क्षेत्र से गुज़र रही हैं।

      Reply
  21. Sir kyon halat btaa rhe hn…Hollywood me Bermuda triangle pr kai documentary ban chuki hn jinme btaya gya h ki Bermuda triangle me kuch Na kuch gadbad h…duniya bhar k scientists ne b yhi kha h ki vhaan samany halat nhi h …to phir ap yhaan pr baithkar kaise btaa sakte hn ki vhaan kuch nhi h

    Reply
    • यह सब बातें आपने न्यूज़ चैनलों पर सुनी होंगी, पर आप सच्ची रिपोर्टों पर विश्वास कीजिए। दुनिया के 10 सबसे खतरनाम समुंद्री रास्तों में से बरमूडा ट्रांगल का नाम नही आता।

      (और हां हम गलत नही बताते बल्कि आपने ‘गलत’ को ही ‘हलत’ लिख रखा है।)

      Reply
    • ओम पाण्डेय जी इसकी कोई जरूरत नही है कि इस विषय पर ज्यादा चर्चा की जाए क्योंकि यह मुद्दा लोगों की मनघणंड कहानियों के कारण ही यहां तक पहुँचा है।

      Reply
  22. Aakhir kuch to h whan varna yuhi ye afwah to h nie jaisi meri soch h ki duniya bhi 7 h to kya pata andar she rasta kahin jata ho

    Reply

Leave a Comment

error: Content is protected !!