ताजमहल के बारे में यह बातें आप नही जानते होंगे | Taj Mahal Facts in Hindi

ताजमहल के रोचक तथ्य – Taj Mahal Facts in Hindi

Taj Mahal Facts in Hindi
Taj Mahal Facts in Hindi

ताजमहल भारत के उत्तरप्रदेश राज्य के आगरा शहर में बनी एक ऐतिहासिक इमारत है। आम प्रचलित धारणा यह है कि इसे मुगल बादशाह शाहजहाँ ने अपनी बेग़म मुमताज महल की मौत के बाद उसकी याद में बनवाया था। इस इस पोस्ट में आपको ताजमहल के बारे में कई मजेदार बातें बताएँगे-

1. क्या आप जानते है कि ताजमहल को शांहजहां ने बनवाया था, इस बात का कोई सबूत मौजूद नहीं है।

2. ताजमहल का निर्माण 1632 में शुरू होकर 1653 तक चला। इस तरह ताज महल बनने में 22 साल लगे। भारत के अलावा फारस और तुर्की के मज़दूर भी थे।

3. Taj Mahal के हर नीव वाले कोने में एक-एक मीनार है। यह चारों मीनारे मक़बरे को संतुलन देती हैं।

4. यह चारों मीनारे 41.6 मीटर ऊँची हैं और इन्हें बाहर की ओर हल्का सा झुकाव दिया गया है ताकि यह मीनारें भूकंप जैसी आपदा में मक़बरे पर न गिरकर बाहर की ओर गिरें।

dhaka hua tajmahal
ढ़का हुआ गुंबद

5. दूसरे विक्ष्व युद्ध, 1971 के भारत-पाक युद्ध और 9/11 के बाद ताज महल की सुरक्षा के लिए इसके गुंबद के चारों ओर बांस का सुरक्षा घेरा बनाकर इसे हरे रंग की चादर के साथ ढ़क दिया गया था ताकि यह दुश्मनों की नज़रों से बचा रहे।

tajmahal ke necche ka design
ताज के नीचे का डिज़ाइन

6. ताजमहल यमुना नदी के किनारे बना हुआ है। ताजमहल का आधार एक ऐसी लकड़ी पर बना हुआ है जिसे मजबूत बनाए रखने के लिए नमी की आवश्यकता होती है। इस नमी को पास में बहने वाली यमुना नदी ही बनाए रखती है।

7. Taj Mahal को 28 तरह के कीमती पत्थरों से सजाया गया था जो कई देशों से लाए गए थे। इन वेश-कीमती पत्थरों को अंग्रेजों ने निकाल लिया था।

8. जब ताजमहल बनाया गया था तो इस पर लगभग 3 करोड़ रूपए खर्च हुए थे। लेकिन अगर आज ताज महल बनाया जाता है, तो इस पर 7,000 करोड़ रूपए खर्च होंगे।

tajhamahal ke fuhare
ताज के फव्वारे

9. ताजमहल को जाने वाले मुख्य मार्गों के बीच जो फव्वारे लगे है वह किसी पाइप से नही जुड़े हुए अपितु हर फव्वारे के नीचे तांबे का एक टैंक है। यह सभी टैंक एक ही समय पर भरते है और दबाव बनने पर एक साथ ही पानी छोड़ते हैं।

10. ताजमहल को देखने हर साल 40 लाख लोग आते हैं। इस में से 70 फीसदी ही भारतीय होते हैं।

kala tajmahal
काला ताजमहल

11. क्या आपको पता है शाहजहाँ Taj Mahal जैसी ही एक काली इमारत बनाना चाहता था जिससे वे ताजमहल की खुबसुरती को देख सके। पर शाहजहां को जब उसके बेटे औरंगज़ेब ने कैद कर लिया तो उसका ये सपना बस सपना ही रही गया।

औरंगाबाद स्थित बीवी का मकबरा
औरंगाबाद स्थित बीवी का मकबरा

12. ऊपर दिए गए चित्र को ध्यान से देखे। यह ताजमहल नहीं हैं। यह ताजमहल की ‘कॉपी कैट’ है। यह औरंगाबाद स्थित बीवी का मकबरा है। इसे ‘मिनी ताज’ भी कहते हैं।

मज़दूर द्वारा बनाया गई ईमारत
मज़दूर द्वारा बनाया गई ईमारत

13. बुलंदशहर के एक मज़दूर ने अपनी पत्नी की याद में ताजमहल की नकल बनाने का प्रयास किया है। हांलाकि अपनी गरीबी के कारण वह इसे पूरा नही बना सका।

14. ताजमहल का रंग बदलता है सुबह देखने पर गुलाबी, रात को दुधिया सफेद और चाँदनी रात को सुनहरा दिखाई देता हैं। लेकिन बढ़ते प्रदूषण के कारण ताजमहल का रंग हल्का पीला पड़ने लगा है इसलिए इसके आसपास पेट्रोल और डीजल के वाहन बंद है।

15. आपको जानकर हैरानी होगी कि ताजमहल कुतुबमीनार से 5 फुट ऊँचा है।

ताजमहल को लेकर हिंदू पक्ष के दावे

अब आपको ताजमहल को लेकर हिंदू पक्ष के दावों के बारे में बताते हैं।

1. हिंदू पक्ष के अनुसार ताजमहल वास्तव में शिव मंदिर है जिसका असली नाम तेजोमहालय है।

2. आम तौर पर समझा जाता है कि ताजमहल नाम मुमताज महल, जो कि वहां पर दफन की गई थी, के कारण पड़ा। यह बात दो कारणों के कारण ठीक नही बैठती – पहली तो यह कि शांहजहां की बेगम का ना मुमताज महल नही था, और दूसरा यह कि किसी इमारत का नाम रखने के लिए मुमताज नामक महिला के नाम से ‘मुम‘ को हटा देने का कुछ मतलब नही निकलता।

3. ताजमहल शब्द के अंत में आये ‘महल’ मुस्लिम शब्द है ही नहीं, अफग़ानिस्तान से लेकर अल्जीरिया तक किसी भी मुस्लिम देश में एक भी ऐसी इमारत नहीं है जिसे कि महल के नाम से पुकारा जाता हो।

4. भारत वर्ष में 12 ज्योतिर्लिंग है। ऐसा प्रतीत होता है कि तेजोमहालय उर्फ ताजमहल उनमें से एक है जिसे कि नागनाथेश्वर के नाम से जाना जाता था क्योंकि उसके जलहरी को नाग के द्वारा लपेटा हुआ जैसा बनाया गया था। जब से शाहजहाँ ने उस पर कब्ज़ा किया, उसकी पवित्रता और हिंदुत्व समाप्त हो गई।

5. चूँकि महिला का नाम मुमताज़ था जो कि ज़ अक्षर मे समाप्त होता है न कि ज में (अंग्रेजी का Z न कि J), भवन का नाम में भी ताज के स्थान पर ताज़ होना चाहिये था (अर्थात् यदि अंग्रेजी में लिखें तो Taj के स्थान पर Taz होना था जैसा कि उर्दू में ज के लिए J नही Z का उपयोग किया जाता है)।

इसके सिवाए श्री पी.एन.ओक ने अपनी पुस्तक ‘ताजमहल इज़ ए हिंदू टेंपल‘ में 100 से भी अधिक दलीलों का हवाला देकर दावा करते हैं कि ताजमहल एक शिव मंदिर था जो कि 12 ज्योतिलिंग में से एक था।

इस विषय के बारे में आपको ज्यादा जानकारी यहां मिलेगी।

31 thoughts on “ताजमहल के बारे में यह बातें आप नही जानते होंगे | Taj Mahal Facts in Hindi”

  1. Sahil Jee,
    Ye log bhul gaye hai ki mulim akramkariyon ne kitne hi mandiro ko todkar masjide banbai. Main puri tarah se aapko support karta hoon. Ayodhya Shree Ram Janam bhumi iska sabse bada sabut hai.
    Aap apne kaam karte rahiye. jinko vishwas karna hai wo karenge aur jinhe nahi karana unfi fikar aap na karen.
    Dhanyabaad

    Reply
  2. Sanmarg naam Ki ek pustak ha Jo west bangle me chapti ha usme sab 35 years pehle bataya Gaya ta each b ha bhart Hindu ka ta mugal ne hamla kiya Hindu raja yaar Gaye to Hindu ke Mandi masjid ban Gaye aur Hindu ke mehlon par mulon ne kabza karke apna naam jar Diya ye to Nehru ko 1947 me sab Hindu imarte Hindu kar deni chahiye ti

    Reply
  3. श्रीमान साहिल जी,
    आपके सभी पोस्ट मुझे अच्छे लगते हैं,
    किसी न किसी को तो दाबी हुई सच्चाई को सामने लाने का बीड़ा उठाना ही चाहिए था, जो पिछली सरकारों ने इतिहास से हटा दिया था। लेकिन यह सभी को जानना जरूरी है। मुझे खुशी है कि, आप यह नेक काम कर रहे हैं।
    जैसा कि ललकिला और कुतुबमीनार के हिन्दू शासकों द्वारा बनाए जाने के प्रमाण उपलब्ध हुए हैं, वो भी इतने सालों से मुसलमानों द्वारा सभी प्रमाणों को नेस्तनाबूद करने के बावजूद भी, क्या पता ताजमहल के विषय में भी हिन्दू पक्ष के दावे सही हैं।
    अतः किसी को भी इस पोस्ट से intollerance feel नहीं करना चाहिए।

    Reply
  4. hlw mr. sahil…. mujhe bhi apse kuch khana h Bhai ji……. ye shi h ap jo bhi likhte ho, desh ke hit me likhte ho bt…. kya ap chahoge ki apki thought ke wjah se khi ladai ya danga ho jaye….. wo bhi ek beautiful palace ko lekar jo ki hmare desh ki es virasat h…. I knw ap apni jgah shi ho bt ye jroori to nhi ki jo ap sochte ho vhi samne wala bhi samjhe….. apne likha jo apko shi lga bt hm to vo hi manenge na jo hme shi lgta h ……. ek to ap khte ho ki ap danga nhi chahte bs apne thinks likhte ho bt sath me ap bolte ho ki hindu paksh ke anusar ……………… taz ko kisne banwaya ya wo shiv mandir tha ya hai…………. ye bilkul bhi jroori nhi h kyo ki jisne bhi banwaya h …. wo taz ko apne sath lekar nhi gya thek h or na hi koi or use apne sath lekar jayega to bevjah ki bato ko na krke ye socho….. ki us taz ki vjah hm sb ek h sb … log taz dekhne jate h … thankxx sahil ji

    Reply
    • नमस्ते हिमांशु जी, मैं आपकी सभी बातों से सहमत हुँ। मैने सभी कमेंटस में बार-बार कहा है कि मै स्वयं ताजमहल को शिव मंदिर नही मानता बल्कि सिर्फ वही तथ्य पेश किए है जो अक्सर बोले जाते है।

      रही दंगो की बात, तो मुझे ये बिलकुल पसंद नही। देश में हर साल 600 से ज्यादा दंगे होते है जिनका संबंध इस पोस्ट में नही है। दंगे तो तब होते है जब दुर्गा पूजा को रोककर मुहरम का जलूस निकाला जाता है। केरल में RSS के लोगों की हत्या की जाती है। झारखंड में हिंदु लड़किओं का धर्म परिवर्तन करवाया जाता है। मुजफ्फरनगर में हिंदु जाट लड़िकयों को छेड़ा जाता है।

      Reply
  5. Bhai ap jese log hi desh me ladai dhange krwate hai,or AGR Tajmahal Hindu ho ya Muslim ka usse kya matlab hai,hai to wo India me hi Naa ,or AGR ap Ye keh rhe h Naa ki ap ka Kaam h Ye sb likhna to Fir aisi anaab shanaab cheeze likhne se pehle uska proof le aaya kriye ,qki bina proof k aao Bs bol hi payenge ,Kat Kuch nahi payenge ,aise to jama masjid me bhi to J aata h to Kal ko bol Dena ki jama masjid me J hai to wo ap logo ka hai ,,,,bhai hm logo ne to kabhi ni kaha ki Ye mandir pehle hamari masjid thi ya koi dargaah thi,ap jese log hi bhadkaate ho tbhi dange fasaad hote ,meri Bs apne sbhi Hindustani bhaiyo or behno se guzarish h Kripya Ise dharm me Naa toule ,Ye ek Hindustan ki pehchan h to use Wahi bana rehne de ,or aisi anaab shanaab daleelo pr bharosa na kre jb tk saboot na mil Jaye thanku nd sorry AGR koi baat Buri lgi ho

    Reply
    • हमें कोई बात बुरी नहीं लगी है। आपको हमारी कुतुबमीनार वाली पोस्ट भी पढ़नी चाहिए। हमने केवल वो तथ्य दिए हैं जो अकसर दिए गए हैं। मानना या ना मानना पाठक की मर्जी।

      Reply
  6. sahil kumar ji aap kahete hain ke aap hindu paksh ne jo dave kiye hain wo hi hamare samne rakh rahe hain . lekin kay aap ne kabhi ye jaan ne ki koshish ki hain ke wo dave shahi hain ya galat . are bahi aesa karne se aap ki imej kharab hoti hain .

    Reply
    • मैने यह इसलिए लिखे है क्योंकि जब मैं कुतुबमीनार के तथ्य देख रहा तो पता चला कि यह एक हिंदु इमारत है और लाल किले के कुछ चिन्ह भी हिंदुत्व का संकेत करते है। हालांकि मैं खुद ताजमहल को लेकर sure नहीं हुँ पर फिर भी तथ्य देना मेरा फर्ज़ था।

      Reply
  7. kya main ye jaan sakta hu SUBHRMANIYAM Sir jo ki apne desh k nationl leadr the unho Suprim court me ye “TAJ” ko lekar aplil nhi ki hai ki “TAJ” HINDU k Shiv mandir ko tudwa k banwaya gaya hai? aor National Ledar ne ye bhi aarop lagya tha ki uska faisala aaj tk nhi ho paya hai.
    mai ye nhi kahta ki “TAJ” Hidu hai ya Mushlim bus sach jana chahata hu,
    aaj k hishaab se 63 arab 77 caror rupes ka “taj” ki kya sachai hai wo court se aane k baad he pata chalegi

    Reply
    • मित्र उन्होंने ताज को लेकर कभी कोई अपील नहीं की है। यह अपील एक संगठन ने की थी जिसे कोर्ट ने खारिज़ कर दिया था।

      Reply
  8. Aapnea achi kosis ki Tajmahal ko shiv mandir banane ki par nakamyab because u hav no any logic no proof.. Kal bolna Lal kila Kala mata ka ghar tha

    Reply
  9. Tajmahal jis lakdi (wood) per based hai ya khada hua hai us lakdi ka naam “EBONY” hai, tajmahal ebony per islie based hai kyonki ye ek esi lakdi hai jo pani me dubti nahi hai na hi pani me sadti ya galti hai balki agar future me kabi baad aa gayi toh tajmahal pani me doobega nahi balki float karega. shahjahan ne is special lakdi ka use islie kia hai taki tajmahal kabi pani me doobe na balki wo easly pani me float kerta rahe…

    Reply
  10. Sahil Ji aapke pass iss baat ka proof hai ki take Mahal ek mandir tha aap pehle proof lekr aaiye tb ye sari baaten kren aise to hm Keh Skte hai kutubminar pehle masjid thi but aisa nhi kahnge q ki dawe krna bhot aasan hai lekin use proof krna bhot aapne dawe to krdiye proof nhi kia or bhot se bechare usi k peeche peeche doud pade ki tajmahal ek mandir hai mujhe to hasi aati hai aap jaise logo ki soch pr

    Reply
  11. Sach m Taj Mehal shahajan ne banvaya h. vha Mumtaj k kabr h .. agr vha shiv mandir hota to kbr banti h nhi… or ye koi mamuli bat nhi k mandir gira kr .taj mehal banaya jaye ..mandir giraya hota to lok zhagda krte kam pura krne nhi dete taj mehal banane deti h nhi …to ab kha se bol ye bate ho rhi he …kisi ek kha to sub kehne lge…vo pyar k nishani h .or hmesha rhegi ….;

    Reply
  12. sir ye btaiye agar aap kuchh sidh hi karna chahte to sidh kijiye ki taj mahal ki jagah mandir tha and i thing eid ke din yha namaj ada ki jati yha dharm ka koi arth hi nhi aata ki yha shiv hai ya alla ,to ye taj mahal mumtaj ke aadhar par hi rakhha gya hai or hmare isvar ek hi hai fir chahe vo kisi bhi dharm me aate ho or bat hai tajmehal & mumtaj ke word ki to ye bataiy ki aaj ke kanpur or britise ke bhut pehle time par iska kya name tha ? mera matlb itna hai ki time ke sath name or things badalti rehti hai aap ne kha to hmne man liya jo purano or prachin sabhyta me likha sikha unko undekha nhi kar sakte, sorry…. bt i thing koi karya mehnat se karne usko khubsurti bnane vale ko hi dedicate karna chahiye jiske karan hmare indiya ki pehchan darshata hai , plz sir maine apni advice likhi hai ithing thing some thing right this topick and thank u..

    Reply
    • आपकी बात सही है, मैने यहां सिर्फ दावे दिए है। मैं व्यक्तिगत रूप से खुद भी ताजमहल से जुड़ी यह मानताएं नही मानता। परंतु मैं कुतुबमीनार और लालकिले के संबंध में पक्का कह सकता हुँ कि वो हिंदुओं द्वारा बनाए गए थे।

      Reply
  13. Sahil bro aap itna confidence k sad bol rahe ho jaise Shiv mandir aap ne hi bnwaya tha or Shahjahan oose tod kr taj mahal bnwaya diya ho ,,,,,,,
    Agar aap koi achha kaam krte ho to oose 10 log sahi kahenge to kuch log galat ,,,,,,,,,,,,, ( ye sb baat oosi m se hai,,,,,,,, ) ab aap ko choose Karna hai k aap sahi m she ho ya galat m se ….

    Reply
    • आफ़रीदी जी आपकी बात सही हो सकती है, पर एक बात से कोई इंकार नही कर सकता कि मुह्म्मद गौरी से लेकर औरंगजेब और टीपू सुल्तान तक कई मुस्लिम शासको ने हिंदु मंदिरो को गिराकर उनकी जगह मस्जिदें बनवाई है।

      Reply
  14. Ji mere hisab se Taj mahal ka pura structure masjid numa bana hai na k mandir numa To ye Tajmahal muslim k banwaya hua ek aisa tohfa hai jo shohar ne apni ahliya k liye uske wafat k bad ka tohfa hai sochne wali bat ye h k wo apni ahliya ko itni mhbbat karte the k unki wafat k bad une itna behtrin tohfa dia to unki zindgi me kya nhi kia hoga ye ek nasihat hai shauhar k liye

    Reply
    • आपकी बात सही है, पर यह भी हो सकता है कि शिव मंदिर को तोड़ कर उसके स्थान पर ताजमहल बनाया गया हो।

      Reply
  15. Man lete h ki taj mahal hakikat m taj mahal nhi h, Ek purana shiv mandir h, Lekin kya iska koi prof h, Kyuki bachpan se hum sab ko ye hi btaya gya h ki tajmahal ek pyar ki nishani h, Or ise shahjha ne mumtaj ki yad m banvaya gya h, to logo ko isi par jaldi bharosha hi hota h.

    Reply
  16. ये एक सर्वविदित तथ्य है की ये जो इमारत है वो कोई ताजमहल नही है दर अशल ये एक हिन्दू विरासत् है एक शिवमंदिर है।।
    जिसे बर्बर अत्याचारी मुस्लिम शासकों द्वारा नष्ट करके , एक कब्रिस्तान का नाम दे दिया गया है।
    जो की भगवान ने चाहा तो जल्दी ही अपने पुराने रूप में दुनिया के सामने होगा।
    जय महाकाल

    Reply

Leave a Comment

error: Content is protected !!