ताजमहल (जा तेजोमहालय)

ताज महल भारत के उत्तरप्रदेश राज्य के आगरा शहर में बनी एक ऐतिहासिक इमारत है। आम प्रचलित धारणा यह है कि इसे मुगल सम्राट बादशाह शाहजहां ने अपनी बेगम मुमताज़ महल की मौत के बाद उसकी याद में सन् 1632 से 1653 के बीच बनवाया था।

इन लिंकस में ताज महल के बारे में विस्तार से बताया गया है।

इस लिंक में ताजमहल के बारे में बेहद मज़ेदार बातें तथा इसको लेकर हिंदू पक्ष के दावे बताए गए हैं।

इन में ताज महल के बारे में संक्षिप्त रूप में बताया गया है।

ताजमहल को लेकर के हिंदू पक्ष का दावा है कि ताज महल वास्तव में एक शिव मंदिर था जिसका असली नाम तेजोमहालय था।

नीचे tajmahal.gaupal.in वेबसाइट का लिंक दिया गया है जिसका शीर्षक है ‘ताजमहल : २२०० वर्ष प्राचीन राजभवन’। यह वेबसाइट पूरी तरह से इसी विषय पर केंद्रित है। इस साइट को पंडित कृष्ण कुमार पाण्डे जी द्वारा लिखा गया है। इस साइट में उन्होंने विभिन्न तथ्यों और प्रमाणों से ताजमहल के हिंदू मंदिर होने का दावा किया है, हांलाकि वह पी. एन. ओक जी के शोध की कुछ बातों से सहमत नही हैं।

इस लिंक में पी.एन. ओक जी के तथ्यों और ऊपरी साइट के लेखों के आधार पर इसी बात का दावा किया गया है।

  • महाशक्ति: ताजमहल एक शिव मंदिर

यह ताज महल या हिंदू मंदिर विषय से संबंधित समाचार है। यह समाचार मई 2015 का है।

  • नहीं मिला ताजमहल के मंदिर होने का कोई सबूत! आगरा

इस लिंक में यह बताया गया है कि एक ट्रेवल वेबसाइट ने पर्यटन के लिहाज़ से दुनिया भर की पर्यटन इमारतो/स्थानों में ताजमहल को तीसरा स्थान दिया है।

  • ताजमहल विश्व टॉप एतिहासक स्थलों में तीसरे स्थान पर

कुछ लोगों ने ताजमहल के जैसी ही दिखने वाली छोटी इमारत बनाने का परियास किया है। इसमें उन्हीं को दिखाया गया है। इसके सिवाए ताजमहल जैसी दिखने वाली इमारतों को भी दिखाया गया है।

  • दुनिया में और भी हैं ताजमहल…

यह लिंक एक पत्रकार व लेखक अफ़सर अहमद की किताब ‘ताज महल या ममी महल’ पर आधारित है।

  • क्या ताज महल एक ममी महल है? खुले राज

यह समाचार जून 2015 का है। इसमें बताया गया है कि कुछ हिंदू पर्यटक ताजमहल में जाने से केवल इस लिए रोक लिए गए क्योंकि उन्होंने रामनामी दुपट्टा पहन रखा था।

  • ताज महल परिसर में उतरवाया रामनामी दुपट्टा

Leave a Comment

error: Content is protected !!