Science Facts in Hindi | यह मज़ेदार विज्ञान रोचक तथ्य आपको कहीं नहीं मिलेंगे

Science Facts in Hindi
Science Facts in Hindi

1. शुक्र ग्रह का परिपथ 177 डिग्री तक झुक जाता है और Uranus 97 डिगरी तक झुक जाता है।

2. हर साल हमारे शरीर के लगभग 98% परमाणु बदल जाते हैं।

3. गरम पानी ठंडे पानी से ज्यादा भारी होता है।

4. सौर मंण्डल के सारे ग्रह बृहस्पति में समा सकते है।

5.Scientist” शब्द पहली बार 1883 में प्रयोग किया गया था।

6. आकाश से गिरी हुई बिजली सूर्य से 5 गुना ज्यादा गर्म होती है।

7. जब अंतरिक्ष यात्री अंतरिक्ष से वापिस आते है तब उन की लम्बाई 2 इंच बढ़ जाती है। इसका कारण यह है कि हमारी रीढ़ की हड्डी से जुड़ी लचीली हड्डीयां गुरूत्व बल की गैरहाजरी में फैलने लगती हैं।

8. एक व्यक्ति बिना खाने के एक महीना रह सकता है पर बिना पानी के 7 दिन। अगर शरीर में पानी की मात्रा 1% से कम हो जाए तो आप प्यास महसूस करने लगते है। अगर यह मात्रा 10% से कम हो जाए तो आप की मौत हो जाएगी।

9. ध्वनि हवा से ज्यादा स्टील में लगभग 15 गुना अधिक गति करेगी।

10. जब एक जैट प्लेन की गति 1000 किलोमीटर प्रति-घंटा होती है तब उसकी लंम्बाई एक परमाणु घट जाती है।

11. जब हाइड्रोजन हवा में जलती है तो इस क्रिया के फलस्वरूप पानी बनता है।

12. प्रकाश को आकाशगंगा के एक छोर से दूसरे छोर तक जाने के लिए 100,000 साल का समय लगता है।

13. एक मध्यम आकार के बादल का वजन 80 हाथियो के बराबर होता है।

14. Plutonium मनुष्य द्वारा बनाया गया सबसे पहला तत्व है।

science facts in hindi

15. अभी तक 1 उल्का पिंड द्वारा सिर्फ एक ही बनावटी उपग्रहि नष्ट किया गया है। यह उपग्रह European Space Agency का Olympics(1993) था।

16. अगर आप अंतरिक्ष में जाते है तो आप गला घुटने की बजाय शरीर के फटने से पहले मर जाएगें क्योंकि वहाँ पर हवा का दबाव नही है।

17. रेडियोऐकटिव तत्व Americium-241 कई धूम्र पदार्थो में इस्तेमाल किया जाता है।

18. एक खगोल शास्त्री फ्रैंक ड्रेक ने अंतरिक्ष संम्ंबन्धी कई तत्थों को ध्यान में रखते हुए कई समीकरणों द्वारा दर्शाया कि हमारी आकाश गंगा(मंदाकिनी) में धरती के सिवाए 1000-10000 ग्रह ऐसे ओर हो सकते है जिन पे जीवन संभव हो सकता है। इतना ही नही 1974 में महान गणितज्ञ कार्ल सागन के अनुसार हमारी आकाशगंगा में ही 10 लाख सभ्ताये होनी चाहिए।

19. एक नज़रिये से तापमान मापने के लिए Celsius पैमाना Fahrenheit पैमाने से ज्यादा अकलमंदी से बनाया गया। पर इसके निर्माता Andero Celsius एक अख्खड़ स्वभाव के वैज्ञानिक थे। जब उन्होंने पहली बार इस पैमाने को विकसित किया, उन्होंने गलती से जमा दर्जा 100 और ऊबाल दर्जा 0 डिग्री बनाया। पर कोई भी उन्हें इस गलती को कहने का हौसला न कर सका, सो बाद के वैज्ञानिकों ने पैमाना को ठीक करने के लिए उनकी मृत्यु का इंतजार किया।

20. धरती एकलौता ऐसा ग्रह है जिसका नाम किसी देवता के ऊपर नही रखा गया और ना ही पुल्लिंग रखा गया है।

21. Albert Einestein के अनुसार हम रात को आकाश में लाखों तारे देखते है उस जगह नही होते बल्कि कही और होते है। हमें तो उनके द्वारा छोड़ा गया कई लाख प्रकाश साल पहले का प्रकाश होता है।

22. जब चाँद बिलकुल आपके सिर पर होता है तो आपका वजन थोड़ा कम हो जाता है।

23. आपको ये जानकर हैरानी होगी, कि आप बर्फ के टुकड़े से आग शुरू कर सकते है।

24. -40 डिगरी पर Fahrenheit पैमाना और Celsius पैमाना बराबर होते हैं।

25. शुक्र ग्रह बाकी ग्रहों की तरह अपनी धुरी के गिर्द झुका नही हुआ है और इसलिए इस पर ऋतुएँ भी नही और यह बाकी ग्रहों से उल्टी दिशा पर सूरज की परिक्रमा करता है।

26. तत्वो की आर्वती सारणी (Periodic Table) में ‘j‘ अक्षर कही भी नहीं आता।

Related Pages

22 thoughts on “Science Facts in Hindi | यह मज़ेदार विज्ञान रोचक तथ्य आपको कहीं नहीं मिलेंगे”

  1. आपके लेख को कैसे साझा करें WhatsApp Instagram इत्यादि पे।

    Reply
    • नमस्ते खेमराज जी,

      लेख share करने के लिए।

      1. पहले ऊपर adressbar से link copy करें।
      2. फिर उसे Whats App आदि में paste करें।

      धन्यवाद।

      Reply
    • होंगे, जरूर होंगे। लेकिन अभी तक हमारा उनसे संपर्क नहीं हो पाया है।

      Reply
  2. moon ki gravity Hume upar ki taraf khinchti hai

    jab wo hamare bilkul upar hota hai tab

    isliye hamari jo earth ke center ki taraf gati hai

    (jo earth ki gravity ke karan hai wo kam ho jaati

    hai thodi si …ye gati gurutv praveg hai jo 1 second

    me 9.8 m jitni hai)

    isliye weight me thodi si kami aati hai

    Reply
  3. Muje ye janana he ki abhi thode din pahle news par a raha tha ki ab insan ka sir kise dusre ke sarir par laga diya ja sakta he man lo ki 1 person ka body sar se niche kam nahi karti to uska sir or kisi ki body par lagayege to dusra Jo donar hr agar WO jinda ho g to WO apni body kyo dega or WO Mara hua he to Jaan kya hamare sir me hoti he Jo use donner ki body par sir lagate jinda ho gayega

    Jawab jarur dena Bhai please ye saval dimag me khatak raha he

    Reply
    • निक जी मानवों का सिर प्रत्योर्पण अभी संभव नहीं हुआ है, आपने गलत खब़र पढ़ी है। यह प्रयोग अभी तक सिर्फ चुहों पर सफल रहें है।

      Reply
    • ऐसा बिलकुल गलत है। ब्रहमांड बहुत बड़ा है और तारो के सापेक्ष पृथ्वी अपनी दिशा अंडाकार पथ में बदलती है।

      Reply
    • Kyuki jo taare aapko dikhte hain vo earth se itne door hain ki earth aur sun ki distance bhi koi mayne nahi rakhti

      Matlab agar aap inhi taron ko mars ,venus ,jupieter ya kisi bhi solar system ke planet se dekhoge toh bhi woh stars aap ko wahin dikhenge
      Thanks

      Reply
    • क्या आप नहीं मानते की तारों की पृथ्वी के सापेक्ष अपनी कोई गति नहीं होती?

      Reply
      • सब तारों की अपनी-अपनी गति होती है। उनके लिए पृथ्वी और बाकी के पिंड बस एक छोटे से बिंदु होते है।

        Reply
    • Simple, Gravity.

      उदाहरण

      मान लीजिए चार लोग एक चद्दर को सभी कोनो से बिलकुल खींच कर पकड़े हुए है और चद्दर के बीच एक भारी गेंद रख दी जाए तो चद्दर वहां से थोड़ी दब जाएगी और अगर किसी छोटी गेंद जा वस्तु को चद्दर पर रखेगें तो वो गेंद की तरफ बढ़ेगी। बस इसी तरह से हमारा ब्रह्मांड कार्य करता है यानि कि भारी गेंदो (सूरज) की तरफ छोटी चीज़ें (ग्रह, उल्का आदि) चली जाती है।

      Reply

Leave a Comment

error: Content is protected !!