शर्त लगी ! ” दिमाग ” के बारे में यह 55 बातें आप नही जानते होंगे !

dimag human brain in hindi

1 To 10 Amazing Facts of Human Brain in Hindi

1. जब आप जाग रहे होते हैं ,तब आपका दिमाग 10 से 23 वाट की बिजली उर्जा छोड़ता है, जो एक बिजली के बल्ब को भी चला सकती है।

2. मनुष्य के दिमाग में दर्द की कोई भी नस नहीं होती है, इसलिए वह कोई दर्द महसूस नहीं करता है।

3. हमारा दिमाग 75% से ज्यादा पानी से बना होता है।

4. आपका दिमाग 5 साल की उम्र तक 95% बढ़ता है, और 18 तक पहुँचते-पहुँचते 100% विकसित हो जाता है और उसके बाद बढ़ना रूक जाता है।

5. सर्जरी से हमारा आधा दिमाग हटाया जा सकता है, और इससे हमारी यादों पर भी कुछ असर नहीं पडेगा।

6. आप अपने दिमाग में न्युरॉनज़ की गिणती दिमागी क्रियाएँ करके बढ़ा सकते हैं। क्योंकि शरीर के जिस भी भाग की हम ज्यादा उपयोग करते है वह और विकसित होता जाता है।

7. पढ़ने और बोलने से बच्चों का दिमागी विकास ज्यादा होता है।

8. जब आप एक आदमी का चेहरा गौर से देखते हैं, तो आप अपने दिमाग का दायां भाग उपयोग करते है।

9. हमारे शरीर के भिन्न हिस्सों से सूचना भिन्न रफतार से और भिन्न न्युरॉन के द्वारा हमारे दिमाग तक पहुँचती है। सारे न्युरॅान एक जैसे नहीं होते। कई न्युरॅान ऐसे होते हैं, जो सूचना को 0.5 मीटर प्रति सैकेंड की रफतार से दिमाग तक पहुँचाते हैं, और कई ऐसे भी होते हैं जो सूचना को 120 मीटर प्रति सैकेंड की रफतार से दिमाग तक पहुँचाते हैं।

10. आपके दिमाग की Right side आपकी body के left side को, जबकि दिमाग की left side आपकी body के Right side को कंट्रोल करती है।

11 To 20 Amazing Facts of Human Brain in Hindi

11. जो बच्चे पाँच साल का होने से पहले दो भाषाएँ सीखते हैं, उनके दिमाग की संरचना थोड़ी सी बदल जाती है।

12. आप के दिमाग में हर दिन औसतन 60,000 विचार आते हैं।

13. अकसर ऐसा कहा जाता है कि हम दिन में 20,000 बार पल्क झपकते हैं और इसके कारण हम दिन में 30 मिनट तक अंधे रहते हैं। लेकिन यह सच नहीं है। असल में हम दिन में 20,000 बार पलक जरूर झपकते हैं पर 30 मिनट तक अंधे नहीं रहते। क्योंकि हमारा दिमाग इतने कम समय में वस्तु का चित्र अपने आप बनाए रखता है। हमारे पलक झपकने का समय 1 सैकेंड के 16वे हिस्से से कम होता है पर दिमाग किसी भी वस्तु का चित्र सैकेंड के 16वे तक बनाए रख सकता है।

14. हँसते समय हमारे दिमाग के लगभग 5 हिस्से एक साथ कार्य करते हैं।

15. दिमाग का आकार और वजन दिमागी शक्ति पर कोई प्रभाव नहीं डालता। Albert Einstein के दिमाग का वजन 1230 ग्राम था जो कि सामान्य मनुष्य के बराबर था।

16. एक जिंदा इंसानी दिमाग बहुत नर्म होता है और इसे चाकू से आसानी से काटा जा सकता है।

17. दिमाग में 1,00,000 मील लंबी रक्त वाहिनियाँ होती हैं।

18. दिमाग को 4 से 6 मिनट तक ऑक्सीजन न मिलने पर भी यह रह सकता है। पर 5 मे 10 मिनट तक न मिलने पर brain damage पक्की है।

19. मनुष्य के दिमाग का वजन लगभग 1500 ग्राम तक होता है।

20. हमारे दिमाग में न्युरॅान की गिणती 100 अरब (जितने आकाशगंगा में तारे होते है) होते हैं और हर न्युरॅान में 1,000 से 10,000 synopses होते है।

21 To 30 Amazing Facts of Human Brain in Hindi

21. वैज्ञानिक मानते हैं कि ब्रह्माण्ड में सबसे जटिल और रहस्मई चीज मनुष्य का दिमाग है।

22. मानव दिमाग के अंदर एक सैकेंड में 1 लाख रासायनिक प्रतिक्रियाएँ होती हैं।

23. हमारे दिमाग के 60% हिस्से में चर्बी होती हैं। इसलिए यह शरीर का सबसे अधिक चर्बी वाला अंग हैं।

24. मस्तिष्क में प्रत्येक वस्तु (सूचना) संग्रहित होते जाती है। तकनीकी रूप से मस्तिष्क के पास अनुभव, अवलोकन, पठन, श्रवण आदि प्रत्येक वस्तु (सूचना) को संग्रह करने की क्षमता होती है। जन्म के बाद से प्रत्येक वस्तु उसमें संग्रहित होते जाती है, कुछ भी नहीं छूटता। यह अलग बात है कि मनुष्य में अपने ही मस्तिष्क में सग्रहित किसी अनेक वस्तुओं (सूचनाओं) तक वापस पहुँचने यानि कि अनेक घटनाओं को स्मरण रख पाने की क्षमता नहीं होती।

25. दिमाग शरीर का लगभग 2% है। परन्तु यह कुल ऑक्सीजन का 20% खपत करता है और खून भी 20% उपयोग करता हैं।

26. जब मनुष्य दो साल का होता है तो उसके दिमाग में किसी और समय के इलावा Brains cells की गिणती सबसे ज्यादा होती है।

27. दिमाग के बारे में सबसे पहला उल्लेख 6000 साल पहले सुमेर से मिलता है।

28. रिसर्च से पता चला है कि पुरूषों और महिलायों के दिमाग की बनावट अलग-अलग होती है।

29. अगर हमारी चमड़ी और मेहदे की तरह हमारे मस्तिष्क के cell भी बदल जाए तो हम अपनी याददाशत गंवा सकते हैं।

30. मनुष्य दिन की अपेक्षा रात को ज्यादा बढ़ते हैं। यह दिमाग के एक छोटे से भाग pituitary (पिट्यूटरी) ग्रंथी के कारण होती है जो रात को सोते समय एक बढ़ने वाला हारमोन छोड़ती है।

31 To 40 Amazing Facts of Human Brain in Hindi

31. वज़न के लिहाज से अब तक सबसे भारी दिमाग एक रूसी लेखक Ivan turgenew का था। उसके दिमाग का वजन लगभग 2.5 किलो था और उसकी मृत्यु 1883 में हुई थी।

32. दिमाग में 40% भाग का रंग grey है और 60% भाग का रंग सफेद है। grey भाग में न्युरॉन होते है जो संचार का काम करते हैं।

33. हमारा दिमाग़ 40 साल की उम्र तक बढ़ता रहता हैं। इसके के बाद यह सुकड़ने लगता है।

34. अगर शरीर के आकार को ध्यान में रखा जाए तो मनुष्य का दिमाग सभी प्रणीयों से बड़ा हैं। हाथी के दिमाग का आकार उसके शरीर के मुकाबले सिर्फ 0.15% होता है जबकि मनुष्य का 2 प्रतीशत।

35. मानव का मस्तिष्क computer से भी ज्यादा तेज प्रतिक्रिया करता है।

36. आपका अवचेतन मन(दिमाग) आपके चेतन मन से 30,000 गुना शक्तिशाली होता है।

37. मनुष्य के दिमाग की left side बोलने को कंटरोल करती है और पंक्षियों के दिमाग की left side उनकe चहचहाना कंटरोल करती है।

38. दिमाग शराब पीने के लगभग 7-8 minute के अंदर ही active हो जाता है और हमे नशा होने लगता है।

39. Brain (दिमाग) और mind (मन) दो अलग अलग चीजे है। मन दिमाग के किस भाग में है इसका पता विज्ञान अभी तक नहीं लगा पाया है।

40. अगर दिमाग से amygdala (प्रमस्तिष्कखंड) निकाल दिया जाए तो इंसान का किसी भी चीज से हमेशा के लिए डर खत्म हो जाएगा।

41 To 50 Amazing Facts of Human Brain in Hindi

41. दिमाग की 10% प्रयोग करने वाली बात भी सच नही हैं बल्कि दिमाग के सभी हिस्सों का अलग-अलग काम होता हैं।

42. अगर आपने पिछली रात शराब पी थी और अब आपको कुछ याद नही हैं तो इसका मतलब ये नही हैं कि आप ये सब भूल गए हों, बल्कि ज्यादा शराब पीने के बाद आदमी को कुछ नया याद ही नहीं होता।

43. एक दिन में हमारे दिमाग़ में 60,000 विचार आते हैं और इनमें से 70% विचार Negative (नकारात्मक) होते हैं।

44. हमारे दिमाग की memory unlimited होती हैं। यह computer और आपके Smartphone की तरह कभी नहीं कहेगा कि memory full हो गई।

45. जब हमे कोई इगनोर या रिजेक्ट करता हैं तो हमारे दिमाग को बिल्कुल वैसा ही महसूस होता हैं जैसा चोट लगने पर।

46. जिस घर में ज्यादा लड़ाई होती हैं उस घर के बच्चों के दिमाग पर बिल्कुल वैसा ही असर पड़ता हैं जैसा कि युद्ध का सैनिकों पर।

47. टी.वी. देखने की प्रक्रिया में दिमाग़ बहुत कम इस्तेमाल होता है और इसलिए इससे बच्चों का दिमाग़ जल्दी विकसित नहीं होता। बच्चों का दिमाग़ कहानियां पढ़ने से और सुनने से ज्यादा विकसित होता है क्योंकि किताबों को पढ़ने से बच्चे ज्यादा कल्पना करते हैं।

48. कुछ ना कुछ सीखते रहने से दिमाग में नई झुर्रियां विकसित होती रहती हैं और यह झुरिया ही IQ का सही पैमाना हैं।

49. अगर आप अपने स्मार्टफ़ोन पर लंबे समय तक फालतु काम करते हैं तब आपके दिमाग़ में ट्यूमर होने का खतरा बढ़ जाता हैं।

50. 24 साल की उम्र से ही आपका दिमाग धीमा होने लगता है। लेकिन उम्र के अनुसार आपका दिमाग परिपक्व हो जाता है और नयी-नयी तकनीको और योग्यताओ को हासिल कर लेता है। इतना ही बल्कि किसी भी उम्र में आपका दिमाग नयी-नयी बातों को अपनाने के लिये तैयार रहता है।

51 To 55 Amazing Facts of Human Brain in Hindi

51. हमारा ब्रेन कई तरह के फंक्शन करता है। ब्रेन हमारे विचारों, स्मृति, हाथ और पैरों की गति समेत हमारे शरीर के कई अंदरूनी अंगों के कार्यों को नियंत्रित करता है।

52. मस्तिष्क इतना महत्वपूर्ण क्यों है? क्योंकि यह हमारे शरीर की क्रियाओं और प्रतिक्रियाओं को नियंत्रित और समन्वित करता है, हमें सोचने और महसूस करने लायक बनाता है, हमें चीजों को याद रखने लायक बनाता है, आदि-आदि चीजें जो हमें एक जीव और एक सर्वक्षेष्ठ जीव, “मनुष्य’ बनाती हैं।

53. दिमाग को ऑक्सीजन की कमी, जगह, इंफेक्शन और तंत्रिका संबंधी बीमारी की वजह से नुकसान पहुँच सकता है।

54. दिमाग के डॉक्टर के लिए न्यूरोलॉजिस्ट (neurologist) शब्द का उपयोग किया जाता है। एक न्यूरोलॉजिस्ट उन समस्याओं का इलाज करता है, जो मस्तिष्क, रीढ़ की हड्डी और तंत्रिकाओं से संबंधित होती हैं।

55. दिमाग का ओपिपिटल लॉब्स हमारी दृष्टि को नियंत्रित करता है। ओपिपिटल लॉब्स हमारे दिमाग के पिछले हिस्से में होता है।

यह भी पढ़ें-

Tags : Human Brain in Hindi , Dimag , About Human Brain in Hindi.

124 thoughts on “शर्त लगी ! ” दिमाग ” के बारे में यह 55 बातें आप नही जानते होंगे !”

  1. Kitna ajeeb hai ye sochna ki Mann jesi koi chij nhi hoti, log apni feelings ko do trike se categories krte hai ek dil or dimag per hum sub dimag se hi sochte hai dil ka kam hi alag hai. Dyaan se socha jaye tho ye bhi Kitna ajeeb hai.

    Reply
  2. Dear Sir ji, meri age 22 h sir me jb bhi me sota rhta hu tb mera mind active rhta h…means full of thoughts n dreams… Sir ye mere sat 2 sal se ho rha h.. Plzzz sir me ky kru reply me request

    Reply
    • सुरेश जी, कुछ लोगों को ज्यादा सोचने की समस्या होती है, मुझे भी थोड़ी सी है। ज्यादा फिक्र मत कीजिए। अपना ध्यान जरूरी कामों में लगाएं।

      Reply
      • Sahil JI sir thanks for reply me. Me dhyan jruri kam m hi lgata hu, overthinking nhi krta, fix time par study krk sota hu fir bhi nindo me bhut brain bussy rhta h Or muje nind me pta hota h ki ye sb mere sat abhi ho rhe h full of thoughts n dreams..
        Mind ko relax kese milega SAHIL JI sir???
        pls sir muje bcha lo please

        Reply
  3. Sir मैं अपने दिमाग को बहुत ज्यादा तेज करना चाहता हूँ औ memory पावर भी अधिक बढ़ाना चाहता हूँ। sir please tell me ,how it will increase

    Reply
  4. Mann jaisi koi cheez hai hi nahi Sirf aur sirf dimaag hai
    Kyun K agar aap mann k baare me sochenge to v dimaag ka istemaal karna pare GA aur fir v aap ko o nahi milega kyun k o hai hi nahi

    Reply
    • If you forget it means that the thing you like to save in the brain memory is not important . So first determine that whatever you are memorising is important for you. And just take a example that if someone ask you the way to reach some place , there are two ways to guide him one is verbally you locate the path and another is diagrammatic way, and it’s obvious that pictorial direction is imprinted in the mind for long , so whatever you have to memorise first make it in written form by your own handwriting, or someone else writing whose writing you like to keep in your mind for always. This will help you to keep the studied content in your mind as permanent memory.
      Best wishes

      Reply
  5. Sir mujhe apni body ka weight mahsus (fell) nahi hota
    Dr. Psychology ki problem Bata rahe h me 4 yr se phycetric medicine kha Raha hu but koi aaram nahi mil Raha h or medicine Lene se memory ki problem increase ho gayi h
    Jab me medicine nahi leta hu to aacha feel hota h Lekin problem ka solution nahi ho Raha h
    Mujhe lagta h ki mujhe koi phycological problem nahi h
    Meri age 23 yr h

    Plz sir koi solution bataye

    Reply
    • रवि जी ऐसे केसस में आपको डॉक्टर की बात ही सुननी चाहिए। आपकी समस्या तो छोड़िए, ज्यादातर लोगों की शारीरिक समस्याएं मानसिक कारणों की वजह से ही होती हैं।

      Reply
  6. Hello hi sir mera ek problem hai jo bahut bada sirdard ban gya hai
    Problem ye hai mai koi bhi kam karne se pahle uske bare me sahi tarike se soch samagh leta hoon fir karta hoo but kam karte samy jo socha sangharsh rahta hai sab gayab ho jata hai dimag bhi kam karna band kar deta hai wo kam ek minute ka ho ya kitna bhi utne smay tak na sahi soch paunga aur na sahi kar paunga aur wo kuch bhi kisi se bat karna kisi se milna ya office me mitting karna kuch bhi ho kam khatam karne ke ek minute ke andar dimag pura kalpana karke bata dega kya sahi kya galat
    To please mughe kuch batao.

    Reply
    • आपकी उम्र कितनी है?

      इतना ज्यादा पढ़ने की कोई जरूरत नहीं है। आप तनाव में जा सकते हैं।

      Reply
    • Reading and memorising both are different things. More reading never harm. But trying to memorise more things at a time will create confusions.

      Reply
  7. सर यदि मनुष्य से* करता है तो उसके शारीर मे क्या होता हे मतलब शारीर में क्या इफेक्ट पड़ता है।

    Reply
    • इफेक्ट पड़ता है? मनुष्ष की प्रजाति इसे के सहारे तो चली आ रही है। अलग-अलग लोगों में इसे अलग-अलग संदर्भों में देखा जा सकता है।

      Reply
  8. Mai kavi kavi 10 ghate net phone me chalata hu kya isse tumor ka khatra hota h . Kavi kavi mai brain me jhatka bhi mahsus hota hai

    Reply
  9. BROTHER कितने घंटे तक लगभग मोबाईल चलाने से ट्यूमर का ख़तरा बढ़ता है।

    और एक बात पहली बार इंटरनेट चलाने का फ़ायदा हुआ इस वेबसाइट के ज़रिए please reply my question

    THANK YOU. ROCHHAK AND. SHAHIL

    Reply
  10. Respected Sir, my name is Raghav Agarwal and i am the student of Pharmacy. sir, i read your beautiful article and i love it.
    sir, my intrest are very in this.

    THANK YOU SIR…

    Reply
  11. Sir mere thought nai aa rhe hai or nai mai kuch soch Paa rha hu or nai mai kuch kr Paa rha hu bss esa lgg rha hai ke kya hoo jay

    Reply
  12. 40 number ka status bilkul galat h Kyu ki jha pr dar khatam hoga waha pr insan ki feelings khatam ho jayengi or feeling khatam ho gayi to insan insan nhi rhega bo ek chalti firti lash ban jayega

    Reply
  13. sir kya ye sach hai ki hm apne dimag ko jis direction mein sabse jyada sochne mein lagayenge toh usi direction mein hamara dimag sabse jyada develop hoga.

    Reply
  14. सर मैं बहुत ज्यादा सोचता हूं सब कुछ गलत लग रहा है कुछ भी अच्छा नहीं लगता पढ़ाई में भी ध्यान नहीं लगता प्लीज बताइए प्लीज बताइए क्या करूं

    Reply
    • अगर काम करने में दिल नही लगता, तो काम करने का सबसे बढ़िया तरीका खोजिए।

      Reply
    • Sar mai bhut jyada glat chij ko sochte rhta hu nigetiv ko jyada sochta hu mai apne wife ke bare me meri wifi hkikt me glat hai usi ke bare jyada sochta hu sar mai kiya kru

      Reply
      • भगीरथ जी आप कैसे कह सकते है आपकी पत्नी गलत है।

        Reply
  15. Sir Maine 6 mahino se kuch jyada soch liya h or ab mere sir me dard dene lg rha h…Mai kaise thik .hona chata hoon…Sir.plz help me..

    Reply
    • aap jyada mat soche yoga kare or meditation kare..isse bhut help hogi koi bhi medicine use kam kare kyuki yeh directly kidney per effect krti he

      Reply
    • Deep inside the medial temporal lobe is the region of the brain known as the limbic system, which includes the hippocampus, the amygdala, the cingulate gyrus, the thalamus, the hypothalamus, the epithalamus, the mammillary body and other organs, many of which are of particular relevance to the processing of memory.

      Reply
  16. Sir,
    Mujhe logo ki saklo/chehro mei ajeeb ajeeb si cheez dikhti hai jase kisi sakl mei ghiya, aur kisi ki mei parantha!
    Ye kis karan hota hai
    Ye mujhe bachpan se hi hota hai.

    Reply
  17. Marne ke baad dimag ka kya hota h …….yah kitne hour tk sahi se kaam krta h ….is ko hum kitne samay me donate kr skhte h ????

    Reply
    • फिलहाल दिमाग को दान करने का कोई विकल्प नही है। मृत्यु के कुछ समय बाद दिमाग भी बेकार हो जाता है।

      Reply
    • Marne ke baad bhi insaan ka dimaag 7 Minute tak kaam karta hai aur us 7 minute me insaan apni jivan ki saari ghatnaaye bilkul ek sapne ke roop me dekh leta hai. Hain na.. Amazing.

      Reply
    • ये दिमाग का वो हिस्सा है जिससे हम डर महसुस करते है। कुछ उसी तरह से कह सकते है कि जीभ के बिना हम स्वाद नहीं चख सकते।

      Reply
  18. hello sir,
    Aapke dwaraa di gai jankari bohot achhi thi,
    but aap ye batain ki mere sath aaisa Q hota hai
    main kisi bhi saman ko rakh kar bhul jaati hu
    fir ye sochti hu k mene rakha kahan hai
    plzz bataye sir iska koi solution

    Reply
  19. 1क्या सभी मनुष्यों का दिमाक समान होता हैं?
    2 क्या सभी मनुषयो के दिमाक का वज़न समान होता है?

    Reply
    • 1. नोर्मल के पास लगभग एक जैसा ही होता है। कुछ के आनुवंशिक तौर पर थोड़ा कम जा ज्यादा हो सकता है लेकिन इससे कोई नंबर आने पर कम दिमाग होने का बहाना नहीं बना सकता।
      2. नहीं। उम्र के हिसाब से अलग-अलग होता है। समान उम्र के लोगों में भी थोड़ा फर्क पाया जाता है।

      Reply
    • What is the relationship between the brain and the mind? The brain is the central processing unit of the body and plays a key role in translating the content of the mind (your thoughts, feelings, attitudes, beliefs, memories and imagination) into complex patterns of nerve cell firing and chemical release.

      Reply
    • प्रश्न थोड़ा अटपटा है आपका मनीष जी। अगर इंसान को होने वाली दुर्घटनाओं के बारे में पहले से पता हो तो दुर्घटनाएं हो ही नां।

      Reply
      • Nahi mere bhai duniya me kuch log aese bhi hai jinhe future me hone wali ghatnao ka pahle se pata chal jata hai lekin wo ise serious nahi lete or nahi kisi ko bta pate hai. Natijan accident ho jata hai or fir unhe yaad aata hai ki iske bare me to mujhe pahle se pata tha.

        Ab duniya me aese kitne log hai jo pahle se bta sakte hai wo allah hi janta hai.

        Jaha tak mera manna hai jo future ke bare me btane me saksham wo kudward se khilwad nahi karte or jo karte or jo karte hai unge kudrat aesi shakti se vanchit kar deta hai or wo surf logo ko bevkoof vanate gai.

        Mai ye bat kahi se padh kar ya sun kar nahi kah raha balki mere sath kai bar aesa ho chuka hai, already pata hone ke bavjud main samajh nahi pata ghatna ghtne ke bad yaad aata hai ye to mujhe pahle se pata tha.

        Ek or example deta hu, humara ek padoshi bahut paisa tha uske pas, crorepati tha. lekin ghamand nahi tha, agar koi use muh par buri se buri gaali bhi de to palat kar gali nahi deta tha, door ke rishte me wo mera bhai lagta tha lekin mujhe sage bhai ki tarah pyar karta tha. Kuch saal pahle ki bat hai raat ke kareeb 12-1 baj rahe the uska mujhe phone aaya or kaha ki tu tere papa ke sath jaldi se yaha aa.

        Maine jaldi se papa ko uthaya or uske ghar gaye waha par already uski behan or biwi baithi thi, usne tea banayi tea pine ke bad usne mere papa se kaha ki ”chacha main ab kuch hi din ka mehman hu, main tujhe gawah maan kar apni biwi or behan se puchta hu ki meri beti ki shadi jaha maine tay ki hai wohi honi chahiye”

        Dono ko isse koi problem nahi thi, sabne kaha ki itni si bat ke liye raat ko sabko pareshan kiya hai. Mere papa be kaha theel hai jaisa tum chahate ho wesa hi hoga or tere jeete ji hoga uske bad hum ghar aa gaye. Lekin na humne or na uski biwi or behan ne isko serious liya.

        Uske 2-3 din bad use bukhar jaisi problem huyi tab bhi kisi ne serious nahi liya, haa main raat ko kai bar uske haath pair daba kar aata tha lekin mere dimag me bhi aesa kuch nahi tha.

        2-3 din bad main or papa city gaye huye the to call aaya ki wo ab nahi rahe.

        Uski biwi ne 30-40 din tak kisi se vaat tak nahi ki, mere papa bhi under hi under se toot gaye or humne uski family me jinko iske bare me btaya tha unke muh par surf ek hi afsos tga ”kash hum uski bat man lete”

        Ye sab uski lila hai jisne na sirf humko balki pure brahamand ko banaya hai, uski duniya me humari dharti ek jarre se bhi chhoti hai to socho hum insan kya hai. Sabkuch pata hone ke bad bhi wohi hota hai jo khuda chahata hai, insan ya koi or chahe kar bhi kuch nahi kar sakta.

        Reply
    • हमारे दिमाग में न्युरॉन होते है, उनकी मदद से।

      Reply
  20. Sir Mujhse koi bat volta h tab m use kuch der bad samajh pata hu or samne bale ki bat ke volne k bad sunai bhi 3 – 4 sec. Bad deta h kya mere dimag ka sanchar sahi nhi h. Iska upay kya h

    Reply
    • कौशल जी आपके दिमाग को कुछ नहीं हुआ है बस आपके ध्यान लगाने में थोड़ी सी कमी है। अपने विचारों को स्थिर रखिए, सब ठीक हो जाएगा।

      Reply
    • क्रियाओं के लिए तो दिमाग का उपयोग 100 प्रतीशत ही होता है, पर हम अगर हम नया सीखने के लिए दिमाग को सही तरीके से उपयोग में लाएं जब यह बातें कहीं जाती है कि हम अपने दिमाग का फलाना प्रतीशत भी उपयोग नहीं कर पाते।

      Reply
    • You are right
      Bikky
      Bikull sir kafffi books Mai study kii Hai
      Kii ek man apna brain only 3% use krta hai
      Ye sir I mahatma bodh ka bhii kehna hai

      Reply
    • नहीं। यह इस बात पर डिपेंड है कि कोई व्यक्ति कैसे वातावरण में रहता है और उसे कैसी शिक्षा और संस्कार दिए जाते है।

      Reply
    • यह हमारे दिमाग में मौजूद तत्वों की वजह सो होता है।

      Reply
    • हम दिन भर जो छोटी से छोटी बात सोचते रहते है (चाहे दुबारा दुबारा) उन विचारों की संख्या लगभग इतनी ही होती है। कोई एक वाक्य मन में आया वो विचार हो गया, ज्यादातर विचार 1 सैकेंड से भी कम समय के होते है।

      Reply
    • कोई प्रोग्राामिंग नही बल्कि स्वयं ही प्रयास करना पड़ता है। कठिन है, पर असंभव नहीं।

      Reply
  21. Sir! Dimag ke bare me 43ve fact Ko ap saabit kaise karoge ?
    Quiki 70% vichar negative hona possible hee nahi lagta.
    Iske bare me kee gaee research betaiye Sir! I Challenge that research.

    Reply
    • यह नियम हर किसी के नही बल्कि औसतन मनुष्य पर लागू होता है।

      Reply
  22. Thanks sir,
    aapki jankari bahut hi aachi h
    Sir main janna chahta hun ki hm dimak ko control kaise kar sakte h or kisi ek point par focus kaisr kar sakte h
    Kyo ki jab main study karta hun to demak nhi lagta
    Plez bataye sir

    Reply
    • भगवान कृष्ण ने कहा है कि दिमाग को वश में रखना कठिन है पर लगातार परियास से इसको वश में किया जा सकता है। इसके सिवाए कोई मंत्र नही।

      Reply
        • DOSTO DIMAG KO CONTROL NAHI KIYA JA SAKTA HAI KYOKI DIMAG HAMARI PURI BODY KO CONTROL KARTA HAI
          THIS IS THE SAME LIKE THAT P.M. CONTROL THE COUNTRY.
          DIMAG MAIN VICHARO KA AANA KAFEE HAD TAK HAMRE BHOJAN PAR DEPEND KARTA HAI SHASTRO MAIN LIKHA BHI HAI “jaisa khaoge ann waisa hoga man”

          BY RAVI TESHVAR ,KALKAJI ,N.D.

          Reply
          • रवि जी उन्होंने जिस हिसाब से पूछा, उसका उत्तर अलग है।

      • sir g agar dimag ko control krne k bajaye kahi lagane ka pryas kiya jaye. to ye sahi rhega
        ya use ek hi thought pe kayam rakhna har waqt ye sahi rhega.

        Reply
        • किसी सार्थक काम में मन को लगाना अच्छा है। ऐसा नहीं है कि यह एक बार कर देने से हमेशा के लिए हो जाएगा, मन चंंचल है, इसलिए इसे निरंतर कर्म के जरिए हमें वश में रखना होता है।

          Reply
    • Generally morning time is considered best time for study and 2-3 hours before sleep also second best choice.

      Each person has his habits, nature, comfort and a biological clock in his body.

      Try to find out what is best time for you when you have highest energy and concentration level.

      Evening time is not considered best time for study. Some may find lowest energy and concentration level during this period and they utilize this for playing or other normal work.

      Reply
  23. bhaut acchi jankari di apne thank you iske liye apne bhaut mehnat ki hogi ,sir kya app ye bata sakte hai ke male ka brain female se kis tareh diffrent hota hai aur dyan(meditation) ke bare me kuch bata sakte hai apki bhaut bhaut mehrbani hogi

    Reply
    • Hi Aryan,

      मित्र पुरूषों और महिलाओं के दिमाग में कोई खास अंतर नही होता है, हमारी सामाजिक सोच के कारण ही हम समझते है कि महिलाओं का दिमाग पुरूषों से कम होता है।

      ध्यान के बारे में जल्द की पोस्ट करेंगे।

      Reply
    • हमारे सिर में जो दर्द होता है वह Dimag में नही होता, खोपड़ी की ऊपरी परतों में होता है। इस दर्द से बचने के लिए खानपान पर ध्यान देना जरूरी है।

      Reply

Leave a Comment

error: Content is protected !!