इतिहास Archive

ऑस्ट्रेलिया का इतिहास – 220 साल पहले अंग्रेज़ों ने किया था कब्ज़ा

ऑस्ट्रेलिया का इतिहास कुछ – कुछ अमेरिका के इतिहास की तरह ही है। जिस तरह से युरोपियन लोग अमेरिका जाकर वहां के मूलनिवासियों को खत्म करके वहां बस जाते हैं उसी तरह से यह ऑस्ट्रेलिया में भी ऐसा ही करते हैं, वहां के सारे आदिवासियों को खत्म करके अपना हक जमा लेते हैं। ऑस्ट्रेलिया का

अमेरिका का इतिहास, जानें दुनिया के सबसे शक्तिशाली देश की कहानी

अमेरिका का इतिहास भारत के इतिहास जितना पुराना नहीं है। भले ही हज़ारों साल पहले मानव ने अमेरिका पर बसना शुरू कर दिया था पर फिर भी इसके इतिहास की शुरूआत 1492 ईसवी से की जाती है जब कोलंबस ने भारत को खोजने के परियास में अमेरिका को खोज़ डाला था। अमेरिका का इतिहास अमेरिका

चीन का इतिहास, जानें चीन के 10 विशाल साम्राज्यों के बारे में

चीन का इतिहास भारत के इतिहास की तरह ही अत्यंत प्राचीन है। भारत की तरह ही यह विश्व की प्राचीन सभ्यताओं में से एक हैं। जिस तरह भारत ने ज्ञान – विज्ञान के क्षेत्र में विश्व को अनेकों चीज़ें दी, इसी तरह से चीन का योगदान भी कम नही है। ब्रिटिश जीव-रसायन शास्त्री जोसफ नीधम

अफगानिस्तान का इतिहास, कभी हिन्दू 100% थे यहां, आज है इस्लामिक देश

अफगानिस्तान का इतिहास लिखित रूप में सबसे पहले 500 ईसापूर्व से मिलता है जब यहां पर हख़ामनी वंश का राज था। हालांकि इस बात के पक्के सबूत है कि इससे पहले यह क्षेत्र मेड़ीज़ साम्राज्य का हिस्सा हुआ करता था और इसके कुछ क्षेत्र सिंधु घाटी सभ्यता के अंर्तगत आते थे। लगभग 4 हज़ार साल

कोलंबस ने भारत की जगह अमेरिका क्यों खोज़ा ? पढ़ें कोलंबस की पूरी जीवनी

कोलंबस वो व्यक्ति हैं जिन्होंने युरोप के लोगों को सबसे पहले अमेरिकी द्वीपों से परिचित करवाया था। अमेरिकी द्वीपों की खोज़ के बाद युरोप के अलग – अलग देशों में अमेरिकी क्षेत्रों को उपनिवेश बनाने की होड़ मच गई थी और कालांतर बड़ी तादाद में युरोपीयन लोग अमेरिकी द्वीपों पर जाकर बस गए। क्रिस्टोफर कोलंबस

पोरस का पूरा इतिहास, पोरस बहादुर था, लेकिन देशभक्त नहीं !

पोरस प्राचीन भारत के एक राजा थे जिनका राज्य झेलम नदी से लेकर चेनाब नदी तक फैला हुआ था। यह दोनो नदियां वर्तमान समय में पाकिस्तान में बहती हैं। राजा पोरस का समय 340 ईसापूर्व से 315 ईसापूर्व तक का माना जाता है। राजा पोरस इसलिए प्रसिद्ध हैं क्योंकि इन्होंने सिकंदर से एक युद्ध लड़ा

मंगल पांडे सिर्फ 22 साल की उम्र में बने थे सैनिक, जानें उनका पूरा इतिहास

मंगल पांडे अंग्रेज़ी राज के समय अंग्रेज़ सेना के एक सिपाही थे। शुरूआत में मंगल पांडे अपने ब्रिटिश मालिकों की बहुत इज्जत करते थे। पर धीरे – धीरे जब अंग्रज़ों का भारतीय जनता के प्रति व्यवहार हिंसक होता गया, वैसे – वैसे मंगल पांडे के मन में उनके प्रति गुस्सा भरने लगा। मंगल पांडे अंग्रेज़ों
error: Content is protected !!