भूमध्य सागर से जुड़े रोचक तथ्य | Mediterranean Sea Information in Hindi

भूमध्य सागर (Mediterranean sea) जिसे रूम सागर के नाम से भी जाना जाता है पृथ्वी पर मौजूद एक सागर है जो नक्शे पर आपको युरोप महाद्वीप के दक्षिण में और अफ्रीका महाद्वीप के उत्तर में मिलेगा। इसके पूर्व में एशिया महाद्वीप स्थित है।

भूमध्य सागर

भूमध्य सागर पृथ्वी के सबसे बड़े सागरों में से एक है जिसका क्षेत्रफल लगभग 25 लाख वर्गकिलोमीटर है। इस तरह से ये सागर भारत के 75 फीसदी हिस्से जितना बड़ा है।

पश्चिम की तरफ ये सागर एक बेहद संकरी खाड़ी से अटलांटिक महासागर से जुड़ा है जिसे जिब्राल्टर की खाड़ी (Strait of Gibraltar) कहा जाता है। ये महज 14 किलोमीटर चौड़ी है और स्पेन के एक दक्षिणी बिंदु से शुरू होती है।

जिब्राल्टर की खाड़ी को छोड़कर ये सागर लगभग सभी तरफ से जमीन से घिरा हुआ है। जैसे कि हमने पहले ही बताया कि इसके उत्तर में युरोप महाद्वीप है, दक्षिण में अफ्रीका महाद्वीप और पूर्व में एशिया महाद्वीप शुरू हो जाता है।

उत्तर-पूर्व की तरफ भूमध्य सागर पानी के छोटे रास्तो द्वारा काला सागर से जुड़ा हुआ है जबकि दक्षिण-पूर्व में ये सुएज नहर (Suez Canal) के जरिए लाल सागर से जुड़ा हुआ है।

भूमध्यसागर को दो भागों में बांटा गया है – पूर्वी और पश्चिमी। सिसिली से ट्यूनीशिया तक की कलपित रेखा को दोनो भागों में विभाजित रेखा माना गया है। इसे हमने चित्र में लाल रेखा द्वारा दिखाया है।

भूमध्यसागर को आगे कई छोटे-छोटे सागरों में बांटा गया है – Alboran Sea, Balearic Sea, Ligurian Sea, Tyrrhenian Sea, Ionian Sea, Adriatic Sea and Aegean Sea. (अल्बोरान सागर, बेलिएरिक सागर, लिगुरियन सागर,टायर्रफेनियन सागर, आइोनियन सागर, एड्रियाटिक सागर और एजियन सागर।)

जिन देशों की तट रेखा रूमसागर से लगती है उनकी संख्या 21 है। ये देश हैं – Albania, Algeria, Bosnia and Herzegovina, Croatia, Cyprus, Egypt, France, Greece, Israel, Italy, Lebanon, Libya, Malta, Morocco, Monaco, Montenegro, Slovenia, Spain, Syria, Tunisia and Turkey.

इस सागर की औसत गहराई लगभग 1500 मीटर के करीब है और इसकी सबसे ज्यादा गहराई अब तक 5267 मीटर तक मापी जा चुकी है।

अगर पानी की मात्रा की बात करें, तो एक अनुमान के अनुसार इस सागर में 37,50,000 cubic kilometers पानी है।

अगर Strait of Gibraltar से Gulf of Iskenderun तक जो कि तुर्की के दक्षिण-पश्चिमी तट की ओर स्थित है तक भू-मध्य सागर की पश्चिम से पूर्व तक लंबाई लगभग 4 हज़ार किलोमीटर बनती है।

सागर की उत्तर से लेकर दक्षिण की लंबाई लगभग 800 किलोमीटर बनती है अगर इसे Croatia के बिलकुल दक्षिणी छोर से लीबिया तक मापा जाए।

रूमसागर से जुड़ी सभी तट रेखाओं की लंबाई 46 हज़ार किलोमीटर तक जा बैठती है।

रूमसागर में लगभग 3300 छोटे-बड़े द्वीप है जिनमें से सबसे बड़े 5 हैं – Sicily (Italy), Sardinia (Italy), Cyprus,Corsica (France) and Crete (Greece).

सागर में दो द्वीप ऐसे हैं, जो अपने आप में एक स्वतंत्र देश हैं। ये दोनो देश हैं – Cyprus and Malta.

भूमध्य सागर के पानी का तापमान काफी बदलता रहता है, लेकिन सामान्य तौर पर ये 10º C से 27º C के बीच ही रहता है।

भूमध्य सागर के क्षेत्रों का जलवायु गर्म और सीला होता है। गर्मियां शुष्क होती है जबकि सर्दियों में बारिश पड़ती है।

इस क्षेत्र की वनस्पति विशेष रूप से लंबी गर्मियों में महीनों तक हरी भरी रह सकती हैं।

इस क्षेत्र की फसलों में जैतून, अंगूर, नारंगी, टेंजेरीयन और कॉर्क शामिल हैं।

ऐतिहासिक रूप से, भूमध्य सागर क्षेत्र के गर्म और समशीतोष्ण जलवायु ने कई प्राचीन सभ्यताओं को विकसित होने में सहायता की है। जिनके विकसित किए गए दर्शन,कला, साहित्य और चिकित्सा परंपराओं पर आधुनिक पश्चिमी और मध्य पूर्वी संस्कृति टिकी हुई है।

ये समुद्र, प्राचीन काल के व्यापारियों और यात्रियों के लिए एक महत्वपूर्ण मार्ग था, जो इस क्षेत्र के लोगों के बीच व्यापार और सांस्कृतिक आदान-प्रदान करने की सहूलियत देता था।

Mediterranean” नाम दो लैटिन शब्द “Medius” और “Terra” से लिया गया है। पहला शब्द “मध्यम” और दूसरा “पृथ्वी” के लिए है।

भूमध्य सागर व्यापारिक लिहाज से काफी महत्वपूर्ण मार्ग है जिससे एक अनुमान के अनुसार हर साल 2.5 लाख से ज्यादा समुंद्री जहाज गुजरते हैं।

जलवायु परिवर्तन की वजह से सदी के अंत तक भूमध्य सागर के जल स्तर में 3 से 61 सेंटीमीटर बढ़ोतरी होने की संभावना है।

Loading...

Comments

  1. Devesh K Pandey

    Reply

  2. sadhana

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!