Hydrogen गैस से जुड़े 17 मज़ेदार तथ्य, अगर आप Hydrogen को सूंघने की कोशिश करेंगे तो. .

Hydrogen in Hindi

Hydrogen periodic table का पहला element है। यह सबसे साधारण परमाणु है जिससे बाकी के सभी elements (तत्व) बनें हुए हैं। वैज्ञानिकों के अनुमान के अनुसार ब्रह्मांड के 90 प्रतीशत परमाणु (atom) हाईड्रोज़न के ही हैं। आइए, आपको हाईड्रोज़ से जुड़े कई रोचक और मज़ेदार तथ्य बतातें हैं।

हाइड्रोजन गैस से जुड़े 17 रोचक और मज़ेदार तथ्य

1. हमारे शरीर का 10 प्रतीशत हिस्सा हाइड्रोजन से बना हुआ है। हालांकि यह शुद्ध हाइड्रोजन के रूप में नही है बल्कि पानी, चर्बी और प्रोटीन के रूप में हमारे शरीर में जमा है।

2. द्रव हाईड्रोजन का घनत्व पृथ्वी पर मिलने वाले सभी तत्वों से कम है। इसी तरह ठोस हाइड्रोजन का घनत्व भी सबसे कम है।

3. माना जाता है कि Big Bang के समय तीन तत्वों का निर्माण हुआ था, जिनमें से एक है हाइड्रोज़न। बाकी के दो तत्व लिथियम और हीलियम हैं।

4. अब तक सिर्फ हाइड्रोजन का प्रतिपदार्थ (antimatter) ही बनाया जा सका है जिसे आप एंटीहाइड्रोज़न भी कह सकते हैं। यह प्रतिपदार्थ सिर्फ 17 मिनट तक ही बना रहा था।

5. एंटीहाइड्रोज़न के एक परमाणु में एक एंटीप्रोटॉन (antiproton – जो कि एक प्रोटॉन का negative charge version होता है) और एक पोजीट्रान (positron – जो कि electron का positive charge version है) होता है। असलीयत में proton हमेशा positive charged और electron हमेशा negative charged होता है।

6. पृथ्वी पर मौजूद बाकी तत्वों (elements) के मुकाबले हाईड्रोज़न negative ions और positive ions बनाने में ज्यादा सक्षम है।

7. हाइड्रोजन का हिन्दी नाम ‘उदजन’ है।

8. जब हाइड्रोजन fluorine, chlorine और oxygen से प्रतिक्रिया करती है, तो विस्फोट होता है।

About Hydrogen in Hindi

9. पहली बार gas balloons जिस गैस की मदद से उड़ाए गए थे, वो हाइड्रोजन ही है। 1783 में फ्रांस की राजधानी पेरिस में यह कारनामा हुआ था। हालांकि हाइड्रोज़न से gas balloons उड़ाना खतरे से खाली नहीं था क्योंकि इसे आग बड़ी जल्दी लगती है। जर्मनी के हिंडनबर्ग में 1937 में हाइड्रोजन के एक gas balloons में धमाका हो गया था जिसमें 36 लोग जलकर मर गए थे।

10. आज द्रवित हाईड्रोजन (liquid hydrogen) कई तरह से प्रयोग में लाई जा रही है, जैसे कि – cooling करने के लिए। इसके सिवाए हाईड्रोजन का प्रयोग अमोनिया बनाने, धातुओं को शुद्ध करने और पलास्टिक आदि बनाने के लिए भी किया जाता है।

11. हाईड्रोजन आग के संपर्क में आने से बड़ी तेज़ी से जलती है, इसलिए हमेशा इसे आग से दूर रखें। इसके सिवाए हाईड्रोजन को कभी भी सूंघने की कोशिश ना करें नहीं तो आपकी सांस प्रणाली में खराबी आ सकती है।

12. बहुत ज्यादा हलकी होने के कारण हाईड्रोजन पृथ्वी के वायुमंडल के ऊपरी हिस्से पर ही पाई जाती है, वो भी सिर्फ थोड़ी सी मात्रा में।

13. सभी तारे और बड़े – बड़े गैसीय ग्रह (Gas planets) हाईड्रोज़न के ही बने हुए हैं। तारों में हाईड्रोज़न के परमाणु मिलकर हिलीयम में बदलते रहते है जिससे अनंत उर्जा पैदा होती है और हम सूर्य की रोशनी को देख पाते हैं।

14. हाइड्रोज़न की खोज़ अंग्रेज़ वैज्ञानिक हेनरी केवेन्डिश (Henry Cavendish) ने 1766 ईसवी में की थी। वो जिंक और हाईड्रोकलोरिक एसिड़ को लेकर एक प्रयोग कर रहे थे जब उन्हें इस गैस के बारे में पता चला। उन्होंने यह भी पाया कि जलने पर यह गैस पानी पैदा करती है।

15. Hydrogen का यह नाम ग्रीक भाषा के दो शब्दों ‘hydro’ और ‘genes’ से मिलकर बना है। Hydro का अर्थ है ‘पानी’ और Genes का अर्थ है ‘बनाने वाला’। अर्थांत जब यह गैस जलती है तो यह पानी बनाती है।

Hydrogen Isotopes in Hindi

16. Hydrogen के तीन Isotopes (आइसोटोप) होते हैं – Protium, Deuterium और Tritium. Protium में कोई भी न्युट्रान नहीं होता, जबकि Deuterium में दो और Tritium में तीन न्युट्रांन होते हैं।

17. Protium हाइड्रोज़न का सबसे आम पाया जाने वाला Isotope है जिसकी वजह से हाइड्रोज़न एकलौता ऐसा तत्व है जिसके एक रूप में कोई भी न्युट्रान नहीं होता।

——-हाईड्रोजन‘ से जुड़े 17 मज़ेदार तथ्य समाप्त——-

General Properties of Hydrogen
Symbol प्रतीक H
Atomic Number परमाणु क्रमांक 1
Atomic Weight परमाण्विक भार 1.00794
Classification वर्गीकरण Nonmetal
Room Temperature Phase साधारण अवस्था Gas
Density गैस घनत्व 0.08988 g/L @ 0°C
Melting Point गलनांक -259.14°C/ -434.45°F
Boiling Point क्वथनांक -252.87°C/ -423.17°F
Discovery खोज़ Henry Cavendish (1766)

Note : अगर आपके पास Hydrogen in Hindi के बारे में और Information हैं, या दी गयी जानकारी में कुछ गलत लगे तो तुरंत हमें Comment में लिखे हम इस Update करते रहेंगे।

Comments

  1. Imran Memon

    Reply

    • Reply

  2. Ashish

    Reply

  3. laxman jati bhandu

    Reply

    • Reply

  4. ajay

    Reply

  5. ajay

    Reply

  6. laxman garg ramavat

    Reply

    • Reply

  7. laxman garg ramavat

    Reply

    • Reply

  8. Prashant

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!