महाबली ‘ The Great Khali ‘ ने अपना नाम रखा था ‘ काली माता ‘ के ऊपर, निकाले गए थे स्कूल से, जानें ऐसी ही कई बातें

the great khali in hindi

द ग्रेट खली के नाम से मशहूर दलीप सिंह राणा एक पेशेवर पहलवान हैं। बेहद गरीब घर में जन्मा दलीप सिंह राना बड़ा होकर द ग्रेट खली बन जाएगा और दुनियाभर में पॉपुलर हो जाएगा, यह किसी ने नहीं सोचा था।

पहलवानी के सिवाए वो कई हॉलीवुड और बॉलीवुड फिल्मों में भी काम कर चुके है। इसके सिवाए वो बिग बॉस के चौथे सीज़न में भी प्रतिभागी रहे है।

नाम – दलीप सिंह राणा उर्फ़ द ग्रेट खली
जन्म – 27 अगस्त 1972, हिमाचल प्रदेश
पिता – ज्वाला राम
माता – तंदी देवी
धर्म – हिंदू ( राजपूत )
पत्नी – हरमिंदर कौर
कद – 7 फुट 1 इंच
वज़न – 157 किलोग्राम

द ग्रेट खली का बचपन और परिवार – Childhood And Family of Khali

खली का जन्म 27 अगस्त 1972 को हिमाचल प्रदेश के एक छोटे से गांव धिरैना के एक गरीब परिवार में हुआ था।

खली का परिवार बहुत गरीब था, ऊपर से खली 7 भाई – बहन थे। सबका पेट पालने की जिम्मेदारी खली पर थी।

गरीबी की वजह से खली ने महज 8 साल की उम्र में पढ़ाई छोड़ दी थी। एक-एक पैसे को मोहताज उनके माता-पिता बेटे की पढ़ाई के लिए ढाई रुपये की स्कूली फीस चुकाने में भी असमर्थ थे।

पढ़ाई बीच में ही छोड़कर खली को गांव के खेतों में मजदूरी करनी पड़ी। उन्हें मात्र 5 रूपए दिहाड़ी मिलती थी।

खली के बारे में एक बात यह भी है वो है कि समय के साथ उनका का शरीर भीमकाय होता चला गया जिसकी वजह से इनके आकार के जूते भी नहीं आते थे, इस वजह से गाँव के बाहर किसी मोची से वो विशेष तौर पर बनवाए जाते थे।

ताकतवर होने के कारण गांव की औरतें उनसे भारी भरकम काम करवाती थीं।

खली पहलवान कैसे बनें – The Great Khali Pahlwan Kaise Bane

खली को बड़े होने पर शिमला में एक सिक्युरिटी गार्ड की नौकरी मिल गई। एक दिन शिमला घूमने आए पंजाब पुलिस एक बड़े अफ़सर एसएस भुल्लर की नज़र खली पर पड़ी।

भुल्लर साहब ने खली को पंजाब आ के पुलिस में नौकरी करने को कहा। उन्होंने खली के पंजाब आने का सारा खर्चा खुद उठाया।

पंजाब पुलिस में नौकरी के दौरान ही उनकी दोस्ती अमित स्वामी नाम के व्यक्ति से हुई। खली के लिए उनके दोस्त अमित स्वामी काफी लकी हैं। खली अपने दोस्त अमित स्वामी के साथ दिल्ली एयरपोर्ट पर अपने पसंदीदा पहलवान डोरियन येट्स से मिलने गए। येट्स खली का डीलडौल देखकर बेहद प्रभावित हुए और उन्हें रेसलिंग में किस्मत आजमाने का सुझाव दिया।

येट्स का सुझाव खली को जापान ले गया। इसके बाद खली ने ‌पीछे मुड़कर नहीं देखा और अमेरिका जाकर WWE में अपना नाम बनाया।

द ग्रेट खली WWE में – The Great Khali WWE Carrier in Hindi

the great khali fight with undertaker in hindi.jpg

खली के आने से पहले WWE में अंडरटेकर को एक बहुत ही ख़तरनाक पहलवान माना जाता था। पर जब अंडरटेकर का मुकाबला खली से हुआ तो मैच मुश्किल से तीन-चार मिनट चल पाया और खली ने अंडरटेकर को मार मारकर बेहोश कर दिया।

साल 2007-08 में खली वर्ल्ड हैवीवेट चैंपियन बनें। उन्होंने उन्होंने इस ताज के लिए जॉन सीना, अंडरटेकर और ट्रिपल एच जैसे तगड़े फाइटरो को हराया था।

WWE में आने से पहले खली को कहा गया था कि अपने लिए कोई अच्छा सा नाम रख लें। खली बड़े ही धार्मिक स्वभाव के थे तो उन्होंने कहा कि वो मां काली के भक्त है और उन्हीं के नाम पर कोई नाम रखना चाहेंगे। इसके बाद खली, खली कहलाने लगे जो काली शब्द से बना है।

कुछ लोगों ने खली को ‘भगवान शिव’ पर आधारित नाम रखने की सलाह दी थी, लेकिन इस नाम को ख़ारिज कर दिया गया, क्योंकि इससे भारत में रहने वाले लोगों की भावनाओं को ठेस पहुंच सकती थी।

खली का पसंदीदा मूव खली बंब है, जिसमें वो दोनों हथेलियों को एक साथ कर विरोधी के सिर पर जोरदार वार करते हैं। उनके इस मूव से विरोधी तुरंत धराशायी हो जाता है। अंडरटेकर और बाटीस्टा जैसे पहलवान तो इस मूव से बेहोश भी हो चुके है।

साल 2005 में तत्कालीन राष्ट्रपित डॉक्टर अब्दुल कलाम खली से बहुत प्रभावित हुए थे। उन्होंने खली को राष्ट्रपति भवन बुलाकर उनसे मुलाकात भी की थी।

खली ने WWE के सिवाए कई और प्रतियोगितायों में जायंट सिंह (Giant Singh) के नाम से भी भाग लिया है।

खली की सेहत – Health of The Great Khali in Hindi

खली सामान्य शरीर के मालिक नहीं हैं, न ही वे पूरी तरह से स्वस्थ हैं। वो बचपन से ही एक्रोमेगली नाम की बीमारी से पीड़ित हैं, जिसकी वजह से उनका शरीर असाधारण तरीके से भीमकाय है। इसी रोग की वजह से उनका चेहरा भी कुछ ‘अजीब’ दिखता है।

एक्रोमेगली नाम की बीमारी से पीड़ित द ग्रेट खली का पूरा परिवार साधारण कद काठी का है। पर खली के दादा जी की लंबाई 6 फुट 6 इंट थी। शायद अपने दादा से ही खली को यह बिमारी अनुवांशिक तौर पर मिली है।

खली विकलांगो की श्रेणी में आते है। साल 2009 के पैरा ओलंपिक में उन्हें ब्रांड अंबेसडर बनाया गया था। पैरा ओलंपिक विकलांगों और मानसिक रूप से विकलांगों के लिए आयोजित किए जाते है।

जुलाई 2012 में खली की ब्रेन सर्जरी हुई थी। दरासल उनकी प्युट्री ग्रंथी जो दिमाग में होती है में ट्यूमर था। इसके बाद खली पहलवानी से दूर रहने लगे।

खली की निज़ी जिंदगी – Personal Life of The Great Khali in Hindi

khali pahalwan

ग्रेट खली माता वैष्णों देवी के मंदिर में

खली भले ही अमेरिका जाकर बेहद अमीर हो गए। पर वो अपने गांव को नहीं भूल पाए। द ग्रेट खली ने अपने गांव के विकास में काफी पैसा दान दिया है।

ग्रेट खली अपने आपको बहुत धार्मिक व्यक्ति बतातें है। वो मां काली के बहुत बड़े भक्त है।

धार्मिक स्वभाव का होने के साथ ही साथ वो शराब, सिगरेट और जुए जैसी बुराइयों से भी दूर रहते है।

खली का खाना – Diet of The Great Khali in Hindi

वैसे तो खली शाकाहारी खाना पसंद करते है, पर सेहत बनाने के लिए वो कई बार मीट भी खाते है।

खली हर रोज़ दो सुबह – शाम दो घंटे कसरत करते है ताकि कि शरीर को संतुलित रखा जा सके।

loading...

Tags : The Great Khali Facts in Hindi

Comments

  1. Parveen

    Reply

    • Reply

  2. rohit kumar

    Reply

  3. rohit kumar

    Reply

  4. Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!