कछुओं से जुड़ी 15 मज़ेदार और ज्ञानवर्धक जानकारियां

About Post : Interesting And Amazing Facts About Tortoise in Hindi

Tortoise in Hindi, कछुओं से जुड़ी 15 मज़ेदार जानकारियां

tortoise in hindi

1. कछुआ एक बहुत ही प्राचीन जीव है जो अपने ढाल जैसे कवच के कारण पहचाना जाता है। इसका कवच इसकी पसलियों से विकसित होता है जो सुरक्षा करने में इनकी सहायता करता है।

2. कछुओं का कवच बहुत ही ज्यादा मज़बूत होता है। इसका विकास समय के साथ मौसम की कठिन परिस्थितियों में जमीन के नीचे रहने के दौरान उनकी सुरक्षा करने के लिए विकसित हुआ है। कछुए खतरा होने पर अपने सिर और पैर को सिकोड़ कर कवच के अंदर छुप जाते हैं।

3. कछुआ अन्य रेंगने वाले प्राणियों की तरह ठंडे ख़ून वाले जीव होते है अर्थात् यह सर्दियों में निष्क्रिय हो जाते है।

4. कछुओं की सबसे पहली प्रजातिआं 15 करोड़ साल पहले उत्पन्न हुई थी। समय के साथ इसकी कई प्रजातियां अस्तित्व में आई और विलुप्त हो गई।

5. वर्तमान समय में कछुओं की 320 से भी ज्यादा प्रजातियां मौजूद हैं जिनमें से कई विलुप्त होने की कगार पर हैं । उनका संरक्षण करना एक चिंता का विषय है।

6. कछुए का कवच ऊपर से उभरा हुआ और नीचे से चपटा होता है। ऊपरी भाग को उत्कवच (कैरापेस) और निचने भाग को उदरवर्म (प्लैस्ट्रन) कहते हैं।

7. कछुओं के मुंह में दाँत नही होते बल्कि एक तीखी प्लेट जैसा हड्डी का पट्ट होता है जो भोजन चबाने में इनकी सहायता करता है।

8. कछुओं की कुछ प्रजातियां जम़ीन पर रहती है और कुछ जल में। कई प्रजातियां ऐसी भी है जो जल और थल दोनों में रह सकती हैं।

9. जम़ीन पर रहने वाले कछुए शाकाहारी होते है और जल में रहने वाले कछुए मछलियों और घोंघो से अपना पेट भरते हैं।

10. कछुए आम तौर पर कोई आवाज़ नही निकालते, सिर्फ सेक्स करते समय ही नर कछुओं की फुफ-कार जैसी आवाज़ सुनाई पड़ती है। इनकी इसी फुफ-कार से ‘जुरासिक पार्क’ फिल्म में डायनासोरों की आवाज़ों को तैयार किया गया था।

11. कछुए अंडो के सहारे नए बच्चे पैदा करते है। जब मादा कछुए को अंडे देने होते है तो वह पहले एक जगह एक मिट्टी खोद लेती है और फिर अंडे देती है।

12. मादा कछुआ एक बार में 1 से 30 अंडे देती है। अंडो से बच्चे निकलने में 2 से 4 महीने लगते हैं।

13. वर्तमान में कछुओं की कई छोटी प्रजातियों को एक पालतु के तौर पर पाला जाने लगा है।

14. कछुओं का जीवन काल इनकी प्रजातियों पर निर्भर करता है। कुछ बड़ी प्रजातियां 150 साल तक जिंदा रह सकती हैं।

15. कछुओं को एक सुस्त जानवर के तौर पर जाना जाता है क्योंकि यह बेहद धीमी रफ्तार से चलते हैं। कछुए ज्यादा से ज्यादा आधा किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से चल सकते हैं।

Tags : Tortoise in Hindi, Kachhuo se judi jankari

Comments

  1. Dhananjay bhosale

    Reply

    • Reply

    • Dhananjay bhosale

      Reply

      • Reply

    • Nitesh

      Reply

  2. Madhuri

    Reply

  3. ajay

    Reply

    • Reply

  4. Kumar ashu

    Reply

  5. aryaveer

    Reply

  6. Ranjeet singh

    Reply

  7. Leena sharma

    Reply

  8. भूषण साहू

    Reply

  9. mohit

    Reply

    • Reply

    • kritika sharma

      Reply

  10. देवा राम

    Reply

  11. Naina singh

    Reply

    • Reply

    • Sagar

      Reply

  12. archna sharma

    Reply

  13. Avtar

    Reply

    • Reply

  14. arzaul haque

    Reply

  15. Rachna

    Reply

    • Reply

    • barot Ajay

      Reply

    • Vikash kalsaniya

      Reply

  16. Ramniwas

    Reply

  17. pawan prajapat

    Reply

    • Reply

    • Vikash kalsaniya

      Reply

  18. Yogesh

    Reply

  19. pawan prajapat

    Reply

    • Reply

    • Vikash kalsaniya

      Reply

  20. Badshah Abdul Razzak

    Reply

    • Vikash kalsaniya

      Reply

  21. Dhiraj

    Reply

    • Reply

  22. prem panwar

    Reply

  23. स्नेह बोथरा

    Reply

  24. A Narayan

    Reply

    • Reply

    • pravin

      Reply

  25. ria

    Reply

  26. abhi

    Reply

  27. abhishek sharma

    Reply

    • Reply

      • Nabin

        Reply

        • Vikash kalsaniya

          Reply

  28. Arti rathore

    Reply

  29. Gulshan kaur

    Reply

    • Reply

    • Vikash kalsaniya

      Reply

  30. Anonymous

    Reply

    • Reply

      • Richedh

        Reply

  31. Viraj

    Reply

  32. Hetal

    Reply

    • Reply

    • Hardy Banna

      Reply

  33. shekhar adhiksnsh

    Reply

  34. Reply

    • Reply

      • Tony Stark

        Reply

  35. मानव उपाध्याय

    Reply

    • rahul

      Reply

    • Vikash kalsaniya

      Reply

  36. mukesh shyam

    Reply

  37. Reply

  38. Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!