वायुमंडल की सामान्य जानकारी

atmosphere in hindi

What is Atmosphere ?

वायुमंडल क्या है ?

पृथ्वी के ईर्द – गिर्द गैसों की एक परत है जिसे वायुमंडल कहते है। वायुमंडल में गैसों के इलावा कुछ मात्रा में जलवाष्प और धूल-कण भी हैं।

वायुमंडल गुरूत्वाकर्षण बल के कारण पृथ्वी के ईर्द – गिर्द लिपटा हुआ है। वायुमंडल केवल पृथ्वी की सतह पर ही नही है बल्कि यह पृथ्वी की गहराई में मौजूद दरारों में भी फैला हुआ है।

What is the Height of Atmosphere ?

वायुमंडल की ऊँचाई क्या है ?

वायुमंडल की कोई निश्चित ऊँचाई नही है, समय के साथ यह घटती – बढ़ती रहती है।

इसके सिवाए पृथ्वी की सतह के हर बिंदु से भी इसकी ऊँचाई समान नही है। भू – मध्य रेखा पर इसकी ऊँचाई ज्यादा है और ध्रुवों पर कम है।

पहले माना जाता था कि वायुमंडल की ऊँचाई 800 किलोमीटर तक है पर अब इस की ऊँचाई 32,000 किलोमीटर तक मानी जाती है।

वायुमंडल की ऊँचाई भले ही कई हज़ार किलोमीटरों तक हो पर इसके द्रव्यमान (mass) का 99 प्रतीशत हिस्सा 80 किलोमीटर की ऊँचाई तक ही है। प्राचीन भारतीय वैज्ञानिक आर्यभट्ट ने भी वायुमंडल की ऊँचाई 80 किलोमीटर तक बताई थी।

Layers of The Atmosphere (in Hindi)

वायुमंडल की परतें

1. Troposphere (क्षोभमंडल) – क्षोभमंडल पृथ्वी की सतह से 8 से 14.5 किलोमीटर तक फैला हुआ है। ध्रुवों पर इसकी ऊँचाई 8 किलोमीटर तक है और भू – मध्य रेखा पर 14.5 किलोमीटर तक।

2. Stratosphere (समताप मंडल) – समताप मंडल 12 से लेकर 50 किलोमीटर तक फैला हुआ है। इस परत में तापमान स्थिर रहता है। ओजोन गैस (Ozone gas) की परत समताप मंडल की ऊपरी सतह में ही पाई जाती है।

3. Mesosphere (मध्य मंडल) – यह परत 50 से 80 किलोमीटर के बीच स्थित है। यह वायुमंडल की सबसे ठंडी परत है। यह परत पृथ्वी की ओर बढ़ने वाले उल्काओं से हमें बचाती है।

4. Thermosphere (ताप मंडल) – 80 किलोमीटर के बाद केवल यही परत रह जाती है। पराबैंगनी विकिरणें इसी परत में ताप (heat) में तबदील हो जाती है जिसके कारण इस परत का तापमान 2000 डिग्री सेल्सीयस तक पहुँच जाता है।

Composition of Atmosphere

वायुमंडल का संगठन

वायुमंडल मुख्य रूप से गैसों, जलवाष्पों और धूल-कणों से बना है।

1. Gases – वायुमंडल में गैसो का संगठन इस प्रकार है –

Gas Percentage
Nitrogen 78.08 %
Oxygen 20.94 %
Argon 0.934 %
Carbon dioxide 0.039 %
Neon 0.001818 %
Helium 0.000524 %
Methane 0.000179 %

2. Water Vapour (जलवाष्प) – जलवाष्प वायुमंडल में 10 से 12 किलोमीटर की ऊँचाई के बीच ही पाए जाते हैं, उसके बाद यह लगभग खत्म हो जाते हैं।

Comments

  1. Kundan

    Reply

  2. Sachin g

    Reply

  3. Suraj kumar

    Reply

  4. Rajiv varma

    Reply

  5. abhishek singh

    Reply

  6. Akhilesh Yadav

    Reply

  7. Karan ray

    Reply

  8. Shikha gupta

    Reply

  9. Roshni

    Reply

  10. Reply

    • Reply

  11. saumya

    Reply

  12. Abhi R

    Reply

  13. L k rajhansa

    Reply

  14. Anushka Gosh

    Reply

  15. Anisha

    Reply

    • Reply

  16. Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!