गूगल एडसेंस की पूरी जानकारी

Full Blogging Guide > गूगल एडसेंस की पूरी जानकारी

गूगल एडसेंस, गूगल का advertising programe है। गूगल एडसेंस का खाता मिल जाने से कोई भी वेबसाइट जा ब्लॉग का मालिक अपने वेबसाइट और ब्लॉग पर एडसेंस के ads show करके पैसे कमा सकता है।

ब्लॉगर्स के लिए गूगल एडसेंस बहुत ही ज्यादा महत्वपूर्ण है क्योंकि यह बाकी के advertising programes से ज्यादा पैसे देता है और ज्यादा आसान भी है।

इस पोस्ट में हम एडसेंस संबधी संपूर्ण जानकारी देगें। इस के लिए दूसरी वेबसाइट पर जो भी एडसेंस संबंधी हिंदी में लेख हैं उन्हें हम विषयों अनुसार बांट के लिंक्स के जरिए उपलब्ध कराएंगे।

Image credit – Flickr

नीचे आप किसी भी विषय से संबंधित लिंक पर क्लिक करके उस संबंधी पोस्टस के लिंंक्स तक पहुँच जाएंगे।

  1. ऐडसेंस के बारे में
  2. ऐडसेंस खाता बनाने से पहले
  3. ऐडसेंस खाता कैसे बनाएँ
  4. दोनो approvel प्राप्त करें
  5. एडसेंस Pin Verification संबंधी
  6. एडसेंस खाते में Bank account जोड़ें
  7. ऐडसेंस ऐडस प्रयोग संबंधी
  8. ऐडसेंस रिपोर्ट के बारे में
  9. ऐडसेंस की कमाई संबंधी
  10. ऐडसेंस खाता सुरक्षित रखने संबंधी
  11. अन्य

ऐडसेंस के बारे में

दिसंबर 2014 से पहले हिंदी ब्लॉगर्स के लिए एडसेंस उपलब्ध नही था। नीचे दिए दो लेख तब लिखे गए जब गूगल ने हिंदी ब्लॉगर्स को एडसेंस विज्ञापन दिखाने की अनुमति दी। इनमें आपको एडसेंस से संबंधित आरंभिक जानकारी मिलेगी।

ऐडसेंस खाता बनाने से पहले

गूगल एडसेंस संबंधी कुछ भी करने से पहले आपको यह सलाह दी जाती है कि आप इसके बारे में अच्छी तरह से पढ़ लें। नीचे दिए सभी लिंक्स आपको यह जानकारी देंगे कि एडसेंस आवेदन करने से पहले हमारे ब्लॉगस पर क्या कुछ होना चाहिए और क्या नही होना चाहिए।

ऐडसेंस खाता कैसे बनाएँ

एक बार अपने ब्लॉग को एडसेंस के लायक बना देने के बाद आप एडसेंस के लिए आवेदन कर सकते हैं। एडसेंस के लिए आवेदन करना बेहद आसान है। आवेदन करने के steps नीचे दिए लिंक में बताए गए हैं।

दोनो approvel प्राप्त करें

एक बार एडसेंस आवेदन करने के बाद हमें एडसेंस के दो approvel चाहिए होते हैं। पहला approvel दो दिन के भीतर मिल जाता है और दूसरा approvel मिलने में दो दिन से लेकर 3 सप्ताह तक लग सकते हैं। मुझे पहला approvel दो घंटे में ही मिल गया था और दूसरा approvel चार दिन में मिला था।

एक बार पहला approvel मिल जाने के बाद दूसरे approvel के लिए यह जरूरी है कि हम एक ad unit बनाकर अपने ब्लॉग पर लगाएँ। नई ad unit कैसे बनाते है यह नीचे दिए लिंक पर दिया गया है-

एक बार एड युनिट का कोड लगा देने के बाद आप को तब तक error दिखेगा जब तक कि आप को दूसरा approvel मिल ना जाए। जब आप के कोड वाली जगह पर विज्ञापन दिखा शुरू हो जाए तो समझ लीजिए कि दूसरा approvel भी मिल गया है। अब आप अपने ब्लॉग पर एडसेंस का प्रयोग शुरू कर सकते हैं।

एडसेंस Pin Verification संबंधी

जब हमारी एडसेंस की कमाई 10 डॉलर हो जाती है तो गूगल हमारे घर के पते पर एक पोस्ट भेजता है, जिसमें एक कोड होता है। इस कोड को हमें हमारे adsence Dashboard पर सही भरना होता है। यदि हम तीन बार गलत कोड भर दें तो हमारा एडसेंस खाता बंद हो सकता है। Pin verification के बारे में ज्यादा जानाकारी इस लिंक पर मिलेगी।

एडसेंस खाते में Bank account जोड़ें

हमें एडसेंस से जो कमाई होती है वह सीधा हमारे Bank account में आती है। इस के लिए हमें अपने Bank account की कुछ जानकारी एडसेंस को देनी होती है। इस लिंक में एडसेंस में अपना Bank account जोड़ने की जानकारी दी गई है।

ऐडसेंस ऐडस प्रयोग संबंधी


Google Adsense Policy के अनुसार हम अपने ब्लॉग के एक पेज़ पर 3 से ज्यादा content ads, 3 से ज्यादा link ads और 2 से ज्यादा search boxes नही दिखा सकते। इस संबंधी पूरी जानकारी आपको इस लिंक पर मिलेगी।

ब्लॉग में कुछ जगह ऐसी होती हैं जहां हम एडसेंस एड नही लगा सकते। इसमें उन जगहों की विस्तार से जानकारी दी गई है।

हर adsense ad के दो तरह के code होते है उन्में से एक होता है Asynchronous(एसिंक्रनस)। नीचे दोनो लेखों में लेखकों ने इसी कोड का सुझाव दिया है।

किंतु यदि आप ब्लॉगर पर हैं तो जो ads आप Mobile view में दिखाना चाहते हैं वह Synchronous कोड में ही दिखाएं क्यों कि यह Mobiles के operamini browser पर Asynchronous कोड के मुकाबले ज्यादा अच्छी तरह से काम करता है।

हम ब्लॉगर ब्लॉग के हैडर, साइडबार पर तो Html widget जोड़ कर adsense ads लगा सकते हैं पर पोस्ट में ads दिखाने के लिए ऐसा कोई Gadget नही होता। इस लिंक में आपको ब्लॉग की posts में कहीं भी ads दिखाने की जानकारी मिलेगी।

एडसेंस रिपोर्ट के बारे में

हमें एडसेंस सो होने वाली कमाई की रिपोर्ट अपने Adsens Dashboard पर मिलती है। हमारी कमाई संबंधी रिपोर्ट दिखाने के लिए कुछ terms का उपयोग किया जाता है जिनके बारे में इस लिंक पर बताया गया है।

  • ऐडसेंस रिपोर्ट – महत्वपूर्ण शब्द और उनके मतलब

ऐडसेंस की कमाई संबंधी

हम कुछ valid tricks का उपयोग करके अपनी adsense से होने वाली कमाई को बढ़ा सकते हैं। इन दोनों लिंक्स में एडसेंस से कमाई बढ़ाने संबंधी जानकारियां दी गई हैं।

बहुत से ब्लॉगर्स एडसेंस से अच्छा कमा नही पाते और वह असफल हो जाते हैं। इस लिंक में 5 ऐसे कारण बताए गए हैं कि क्यों लोग एडसेंस से कमाई करने में असफल हो जाते हैं।

नीचे जो लिंक दिया गया है उसे देखकर हर कोई समझता है कि इसमें शायद कोई magical trick दी गई है। पर ऐसा नही है। इसमें यह बताया गया है कि हमें एडसेंस से 100 डॉलर प्रति दिन कमाने के लिए हमारे ब्लॉग पर कम से कम 500 quality post और 40 से 50 हज़ार page views प्रति दिन होने चाहिए।

इस लिंक में यह बताया गया है कि अमेरिका युरोप समेत अन्य विकसित देशों के मुकाबले भारत में एडसेंस से अच्छी कमाई क्यों नही होती।

  • भारत में ऐडसेंस से अच्छी कमाई क्यों नहीं होती, सीपीसी क्यों कम है?

जिस महीने हमारी एडसेंस कमाई 100 डॉलर या इससे ज्यादा हो जाती है तो उससे अगले महीने की 21 या 22 तारीख को गूगल हमें पैसे भेजता है जो एक हफते के अंदर-अंदर(अमूमन 24 तारीख को) हमारे बैंक खाते में आ जाते हैं। नीचे दिए लिंकस में इस बारे में विस्तार से बताया गया है।

गूगल एडसेंस खाता सुरक्षित रखने संबंधी

एडसेंस ब्लॉगिंग से आय का मुख्य स्त्रोत है। इसलिए हमारे एडसेंस खाते का सुरक्षित रहना अति आवश्यक है। इन सभी लिंक्स में एडसेंस खाते को सुरक्षित रखने संबंधी टिप्स दिए गए हैं।

एडसेंस हमें sites authorized का एक विक्लप देता है जिससे हमारे ad codes केवल उन्हीं वेबसाइटस पर काम करेगे जिन्हें हम ने add किया हुआ है। इससे हमारा एडसेंस खाता बंद होने के chances कम हो जाते हैं। इस लिंक में इस फीचर का उपयोग कैसे करें यह बताया गया है।

  • सिर्फ़ अपनी साइटों पर ही गूगल विज्ञापन दिखाएँ

इसमें हमारी ads पर अवैध कलिक रोकने के 7 तरीके बताए गए हैं।

  • ऐडसेंस ऐड पर फर्जी क्लिक रोकने के लिए 7 टिप्स

अन्य

यह सभी एडसेंस से संबंधित लेख है जो एडसेंस के बारे में आपकी जानकारी और बढ़ाएँगे।

Loading...

Comments

  1. dilipsaini

    Reply

    • Reply

  2. Suresh

    Reply

    • Reply

  3. Reply

    • Reply

  4. SONU

    Reply

  5. SONU

    Reply

  6. प्रेम

    Reply

    • Reply

  7. नीरज कुमार सिंह

    Reply

    • Reply

  8. paresh barai

    Reply

    • Reply

  9. Rohan

    Reply

  10. ABDUL RAZIQUE

    Reply

    • Reply

  11. Reply

    • Reply

  12. Reply

    • Reply

  13. Harsh

    Reply

  14. Reply

  15. Prahlad

    Reply

  16. Reply

    • Reply

  17. Reply

    • Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!