एडीसन के बारे में 13 रोचक तथ्य

एडीसन के बारे में 13 रोचक तथ्य

थॉमस अल्वा एडीसन दुनिया के सबसे बड़े प्रोयोगिक वैज्ञानिक हैं. इनका जन्म 11 फरवरी 1847 को अमेरिका के ओहायो राज्य में सामुएल ओगडंन एडीसन के घर हुआ. एडीसन के नाम लगभग 1093 पेटेंट है जो इनकी मेहनत को दर्शाते हैं. बचपन में गरीबी से गुजरने वाले इस महान वैज्ञानिक ने हौसला न खोया और आर्थिक तंगी के कारण स्कूल से निकलने के बाद भी अपनी पढ़ाई और वैज्ञानिक प्रयोग जारी रखे. थॉमस समय को पैसा और मेहनत को सफलता और संतुष्टी कहते थे. बिजली के बल्ब की खोज इनकी सबसे बड़ी खोज मानी जाती है. एडीसन बिजली का बल्ब बनाने में 10,000 बार से अधिक बार असफल हुए पर हार नही मानी और अंत में बल्ब की खोज कर दुनिया को रौशन कर दिया जब इनसे पूछा गया कि आप बिजली का बल्ब खोजते समय 10,000 बार असफल हुए तब क्या आप निराश नही हुए. तब एडीसन ने कहा कि मैंने 10,000 तरीके ऐसे खोज लिए हैं जो कि काम नही करते. आइए इस महान वैज्ञानिक के बारे में कुछ रोचक तथ्य जानते हैं.

  1. एडीसन ने अपनी पहली प्रयोगशाला सिर्फ 10 साल की आयु में ही बना ली थी. उनकी मां ने उन्हें एक ऐसी पुस्तक दी जिसमें कई सारे रसायनिक प्रयोग दिए हुए थे. एडीसन को यह पुस्तक भा गई और उन्होंने अपने सारे पैसे रसायनो पर खर्च करके यह सारे प्रयोग कर डाले.
    (www.rochhak.com)
  2. थॉमस एडीसन 12 साल की आयु से बहरे थे और उन्हें अपनी इस स्थिती पर खुसी थी. 12 साल की आयु में वह एक ट्रेन के डिब्बे में यात्रा कर रहें तो उन्के पास कुछ रसायन थे जो कि डिब्बे में गिर गए. इस से डिब्बे को आग लग गई और कंडक्टर ने उन्हें जोर से चाटा जड़ दिया जिससे उनके सुनने की समता बहुत कम हो गई. पर अपनी इस समस्या को वरदान मानते वह कहते-” इसके कारण काम करते समय मेरी एकाग्रता बनी रहती थी.
  3. थॉमस एडीसन ने 14 साल की आयु में एक 3 साल के बच्चे को ट्रेन के नीचे आने से बचाया. उस बच्चे के पिता ने एडीसन का बहुत धन्यवाद किया. उस बच्चे के पिता ने एडीसन को टेलीग्राम मशीन चलानी सिखाई. बाद में एडीसन को कहीं पर टेलीग्राम चलाने के विषय में एक स्टेशन पर नौकरी भी मिल गई. उन्होंने अपनी डयुटी रात को करवा ली ताकि उन्हें प्रयोगो के लिए ज्यादा समय मिल सके. पर एक दिन रात को बैटरी पर वह कुछ तोजाबों से प्रयोग कर रहें थे तो एक तेजाब नीचे फर्स पर गिर गया जिससे वह खराब हो गया. अगली सवेर उन्हें उसके लिए नौकरी से हाथ धोने पड़े.

  4. थॉमस एडीसन को बचपन में अपने प्रयोग जारी रखने के लिए पैसो की जरूरत थी. पैसे कमाने के लिए वह ट्रेन में अखबार और सब्जी बेचते थे.
  5. 15 वर्ष की आयु में उन्होंने एक secondhand प्रीटिंग प्रैस खरीदा जिसमें वह एक पत्रिका ‘Weekly herald’ छापते. इसे वह खुद संपादन करते और स्टेशनो आदि पर बेचते.
  6. जब उनका कोई प्रयोग पूरा होने को होता तो वह बिना सोए लगातार 4-4 दिन इस प्रयोग के खत्म होने तक लगे रहते. और वह काम करते समय कई बार अपना खाना खाना ही भूल जाते थे.
    (www.rochhak.com)
  7. सन 1879 से 1900 तक ही एडीसन अपनी सारी प्रमुख्य खोजे कर चुके थे और वह एक वैज्ञानिक के साथ-साथ एक अमीर व्यापारी भी बन चुके थे.
  8. एडीसन ने अपने 8 साल और 10 लाख डॉलर बिजली स्टोर करने वाली बैटरी बनाने में लगा दिए थे जो कि कारो में प्रयोग होती थी.
  9. एडीसन का प्रसिद्ध कथन है, “जीनीयस व्यकित 1 प्रतीशत प्रेरणा और 99 प्रतीशत मेहनत से बनता है.”
  10. अपनी पहली खोज के लिए एडीसन को लगभग उस समय में 40,000 डॉलर मिले थे जो आज के 7,50,000 डॉलर के बराबर है.
  11. एडीसन लगभग 18 घंटे अपनी वर्कशाप पर काम करते हुए ही बिताते थे.
    (www.rochhak.com)
  12. अलैक्सैंडर ग्रागम बैल द्वारा खोजे गए टेलीफोन में एडीसन ने बहुत सारे सुधार किए और ज्यादा दूरी में बात किए जाने वाले टेलीफोनो की आवाज को ज्यादा स्पष्ट बनाया.
  13. एडीसन ने ही 1890 में पहला फिलमी कैमरा बनाया था जो कि एक सैकेंड में 25 चित्र खींच सकता था.

Related Posts

  1. चार्ल्स डार्विन से जुड़ी मजेदार बातें
  2. अडोल्फ हिटलर के बारे में हैरानीजनक तथ्य
  3. अल्बर्ट आइंस्टाइन से जुड़े रोचक तथ्य
  4. आइजैक न्यूटन के बारे में रोचक तथ्य
  5. सचिन तेंदुलकर से जुड़े रोचक तथ्य

Comments

  1. Rahul gaur

    Reply

  2. Vidya Bhushan Kumar

    Reply

  3. Anmol Chaudhary

    Reply

  4. neeleshpatel

    Reply

    • Anmol Chaudhary

      Reply

  5. Rajeev jha

    Reply

  6. manoj sharma

    Reply

  7. rizwan khan

    Reply

  8. Amit kumar

    Reply

  9. Reply

    • Bheem singh yadav

      Reply

      • Anmol Chaudhary

        Reply

  10. बेनामी

    Reply

    • Anmol Chaudhary

      Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!